daily dying plant

रोजाना मर रहे पौधे में कौन-कौन से संकेत या लक्षण दिखाई देने लग जाते हैं जाने

ठीक इंसानों की ही तरह, पेड़-पौधों को भी बीमारी होती है और अगर उनकी बीमारी का तुरंत पता नहीं लगाया गया, तो धीरे-धीरे उनकी मौत होने लगती है। कई लोगों के घरों में बगीचा होने पर भी उन्हें यह समझ में नहीं आता कि उनके पेड़ों की पत्तियां पीली क्यों पड़ रही हैं और बिन मौसम में वे क्यों झड़ रही हैं।

ऐसे में उनके पौधों की मौत हो जाती है और उन्हें पता भी नहीं चलता। इसी के बारे में आज हम जानेंगे कि जब पेड़-पौधे मरने लगते हैं, तो उस वक्त उनमें ऐसे कौन-कौन से संकेत या लक्षण दिखाई देने लग जाते हैं, जिनको पहचान कर हम उनकी जान बचा सकते हैं।

ऐसे पहचानें कमजोर पौधों के लक्षण

कमजोर पत्तियां

पौधे की पत्तियां दो तरह से कमजोर पड़़ती हैं, एक जब पुरानी पत्ती की जगह पर दूसरी पत्ती आती है और दूसरा, जब पेड़ की मौत होने लगती है।

पत्तियों में पीलापन

पौधों की पत्तियां उम्र के साथ-साथ पीली पडऩे लगती हैं। लेकिन अगर पौधा नया है और फिर भी उसकी पत्तियां पीली दिख रही हैं, तो यह सर्न बर्न की वजह से हो रहा है। पौधे पर तेज धूप लगने की वजह से भी ऐसा होता है, इसलिए पौधे को धूप वाली जगह से हटाकर छांव में रख दीजिए।

पौधे सडऩे लगें

अगर आप पेड़ की पत्तियों या फिर उसके तने को थोड़ा सा भी सड़ा हुआ देखें तो यह चिंता की बात है। अगर पौधे में ज्यादा पानी डाला जाए या फिर उसमें कीड़े लग जाएं, तो पौधा सडऩे लगता है। इससे पहले कि पौधे की जड़ भी सडऩे लगे, अपने पौधे की सुरक्षा करें।

फलदायी पौधे

कुछ पेड़ों में फूल आने के बाद फल आकर उनकी मृत्यु हो जाती है। इन पेड़ों में केला सबसे आम उदाहरण है। अगर आपको इन पेड़ों को बचाना है, तो इन्हें फल देने से रोकना होगा। इसके लिए पेड़ में जब भी कोई नई फल की कली देखें, उसे तुरंत ही तोड़ दें।

पत्तियों का झडऩा

पौधों में बेजान पत्तियां अपने आप ही टूटकर उससे अलग हो जाती हैं। वैसे तो पेड़-पौधों की पत्तियां हमेशा पतझड़ में ही झड़ती हैं, लेकिन अगर आपके पौधे से बिना मतलब के ही पत्तियां झड़ रही हैं, तो उसके पीछे जरूर कुछ मतलब है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams