Japanese Fruit Una

मलाहत में फल पैदा करने का किया सफल प्रयोग

हिमाचल दस्तक, पूजा मनकोटिया। ऊना

फलों की विभिन्न किस्मों को पैदा करने का शौक रखने वाले ऊना के मलाहत निवासी नरेश ठाकुर ने जापानी फल का सफल प्रयोग किया है। प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में मिलने इस स्वादिष्ट फल को पैदा करने में नरेश ठाकुर पिछले चार साल से लगातार मेहनत कर रहे हैं और उनकी की गई कोशिश को इस बार फल लगा है। नरेश ठाकुर के आंगन में जापान की यह मलकीयत फूल-फल रही है। नरेश ठाकुर आम, चकोतरा सहित अन्य कई फलों की किस्मों पर भी सफल प्रयोग कर चुके हैं।

नरेश ठाकुर ने बताया कि यह फल दिखने में जितना सुंदर है खाने में उतना ही स्वादिष्ट है। इससे से कहीं अधिक सेहत के लिए रामबाण भी है। नरेश ठाकुर कहते हैं कि यदि परसीमन के उत्पादन को बढ़ावा दिया जाए तो ये किसानों की आर्थिकी को संवारने में मददगार साबित हो सकता है। सरकार को चाहिए कि अन्य फलों की तरह इस फल को भी बाजार में बढावा दिया जाना चाहिए।

जम्मू-कश्मीर और हिमाचल में जापानी फल का उत्पादन बड़े सत्र पर होता है, लेकिन बागवानों को इसका उचित मूल्य नहीं मिल रहा है। उन्होंने बताया कि हर साल ही मई-जून में फूल खिलते हैं और अगस्त में फल पक जाता है। गौरतलब है की जापानी फल खाने में स्वादिष्ट है वहीं साथ ही सेहत की दृष्टि से बेहद गुणकारी है। इसमें न तो कोलेस्ट्रोल है और न फैट होता है। यह फल स्वास्थ्य के लिए रामबाण से कम नहीं है। यह बुखार, पेट की बीमारियों और कैंसर रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने वाला माना गया है।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams