Wedding Planner

Wedding Planner को जिम्मेदारी सौंप निश्चिंत होना चाहते लोग

देश में एक लाख करोड़ से अधिक का है शादी-ब्याह का बाजार

 नई दिल्ली
Wedding Planner शब्द से लोग अच्छी तरह वाकिफ हैं लेकिन आज के दौर में इसके मायने बदलते जा रहे हैं। बाजार में बढ़ती प्रतिस्पर्धा तथा बदलते हालात एवं समाज की बदलती मांग को देखते हुए इस पेशे ने भी अपने आपको पूरी तरह से बदल लिया है। प्रतिस्पर्धा का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि भारत में प्रति वर्ष शादी ब्याह का कारोबार।,00,000 करोड़ रुपये से अधिक का है।

आज से कुछ समय पहले वेडिंग प्लानर का जिम्मा केवल आपकी शादी के सभी कामों को बखूबी अंजाम देना होता था लेकिन अब बढ़ती प्रतिस्पार्धा के कारण Wedding Planner भी नई-नई थीम और उपकरणों के साथ बाजार में उतर आए हैं। Wedding Planner कंपनी फीयोना डिकोर के मालिक एवं संचालक सुनील ने भाषा से कहा कि आजकल लोग बेहद व्यस्त जीवन जीते हैं और ऐसे में शादी जैसे बड़े काम की सभी जिम्मेदारी खुद उठाना संभव नहीं हो पाता।

ऐसे में वे Wedding Planner पर सभी जिम्मेदारी छोड़ खुद निश्चिंत हो जाना चाहते हैं। लेकिन अब लोगों की उनसे उम्मीदें और बढ़ती जा रही हैं अब वे केवल शादी कराने के लिए हमसे संपर्क नहीं करते बल्कि अब उनकी अलग-अलग तरह की मांगें भी होती हैं। उद्योग संगठन एसोचैम की एक हालिया रिपोर्ट के अनुसार भारत में शादी ब्याह का कारोबार 1,00,000 करोड़ रुपये से अधिक का है, जिसमें हर वर्ष 25 से 30 प्रतिशत की बढ़ोतरी हो रही है। यह खर्च महंगाई के साथ साथ बढ़ता जाता है। Wedding Planner प्रतिस्पर्धा की दौड़ में खुद को अपने प्रतिस्पर्धियों से आगे रखने के लिए कोई कसर नहीं छोडऩा चाहते और अपने काम में नवीनता को प्रधानता देते हैं। इसका असर सीधे-सीधे खर्च पर पड़ता है।

थीम आधारित वेडिंग का चलन

अब लोग शादी में अलग-अलग तरह की थीम चाहते हैं। आजकल लोटस थीम, लंदन ब्रिज थीम, लिबर्टी थीम आदि। लिबर्टी थीम में जयमाला स्टेच्यू आफ लिबर्टी के बुत की मशाल पर लटकी होती है, जहां से ड्रोन उन्हें दुल्हा-दुल्हन के हाथों में लाकर देता है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams