News Flash
low educated

अब मंजिल दूर नहीं अपनाए ये रास्ता

वोकेशनल कोर्स यानी जॉब की गांरटी

कम पढ़े-लिखे लोगों के लिए वोकेशनल कोर्स किसी वरदान से कम नहीं है। इसको करके कोई भी आसानी से अच्छी कमाई कर सकता है। अगर विशेषज्ञों की राय मांगी जाए तो सभी एक सुर में कहेंगे वोकेशनल कोर्स यानी जॉब की गांरटी। अगर किसी कारणवश आप ज्यादा पढ़ाई नहीं कर पाए हों तो निराश होने की बजाय अपनी मनपसंद का वोकेशनल कोर्स करें।

यह आपके करियर को एक नई दिशा देगा। अगर युवा 10वीं या फिर 12वीं के बाद आगे की पढ़ाई नहीं कर पा रहा हो या किसी और कारण से पढ़ाई में बाधा आ रही हो तो वोकेशनल कोर्स उसके लिए मंजिल तक पहुंचने का आसान रास्ता बन सकता है।

पर्यटन

हास्पिटैलिटी सेक्टर के बढ़ते कदम ने रोजगार के कई अवसर खोल दिए हैं। इनमें पर्यटन से जुड़ा ट्रैवल एंड टिकटिंग भी एक है। तीन माह से छह माह के कोर्स करके आप होटलों, एयरलाइंस कंपनियों, ट्रैवल एजेंसियों, ग्राउंड स्टाफ, टिकटिंग स्टाफ के रूप में जॉब कर सकते हैं और अपना जीवन एक सही दिशा में मोड़ सकते हैं।

रिपेयरिंग

रेडियो एंड टेलीविजन कंपोनेंट, रिपेयर ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स गैजेट्स, रिपेयरिंग एंड मेंटेनेंस ऑफ मोबाइल फोन आदि में प्रशिक्षण हासिल करके खुद का सर्विस सेंटर खोल सकते हैं। कुछ इलेक्ट्रॉनिक्स गैजेट्स बेचने वाली कंपनियां भी अपने यहां ऐसे प्रोफेशनल्स को हायर करती हैं। ये कोर्स एक वर्ष, छह माह या दो सप्ताह के होते हैं। इनको आठवीं या दसवीं कक्षा के बाद किया जा सकता है।

सौंदर्यशास्त्र

आजकल लड़कियों के साथ लड़के भी सौंदर्य के क्षेत्र में आगे आ रहे हैं। तो अगर आप ऑफ बीट करियर में आगे बढऩा चाहते हैं और दसवीं या फिर बारहवीं उत्तीर्ण हैं तो ब्यूटी कल्चर से जुड़े कोर्स कर सकते हैं। वर्तमान समय में हर किसी को सुंदर दिखने की ललक ने इस फील्ड को गोल्डन बना दिया है। साथ ही आपकी रचनात्मकता आपको नई ऊंचाइयां दिला सकती है।

केश सज्जा

आजकल फिल्मों, धारावाहिकों और फैशन शोज के अलावा आम लोग भी अलग-अलग हेयर स्टाइल बनवाना पसंद करते हैं। ऐसे में यह क्षेत्र संभावनाओं से भरा है। अगर गौर किया जाए तो अब तक केश सज्जा में लड़कियों की तुलना में लड़कों का बोलबाला है। फैशन के पैशन ने लोगों को हेयर स्टाइल के प्रति जागरूक बना दिया है। इसी कारणवश इस क्षेत्र में संभावनाएं बढ़ीं हैं। कई संस्थाओं ने इससे जुड़े कोर्स कराने शुरू कर दिए हैं। दसवीं और बारहवीं के बाद यह कोर्स किया जा सकता है।

फैशन डिजाइनिंग

अगर आपमें बदलते फैशन की समझ और नए डिजाइन क्रिएट करने की क्षमता है तो यह क्षेत्र आपके लिए बेस्ट है। 10+2 के बाद फैशन डिजाइनिंग में डिग्री सहित छह महीने से लेकर एक साल तक के शॉर्ट टर्म कोर्स कर भविष्य को नया आयाम दे सकते हैं। अपैरल पैटर्न मेकिंग का कोर्स दसवीं कक्षा के बाद कर सकते हैं।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams