forest guard murder case

अब तक 59 लोगों के किए बयान दर्ज

27 को कोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट भी होनी है दायर

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला

फॉरेस्ट गार्ड होशियार सिंह हत्या मामले की जांच में जुटी CBI को 13 दिन में भी कोई सुराग नहीं मिला। हालांकि गत 27 अक्तूबर को CBI ने FIR दर्ज कर 30 अक्तूबर से जांच शुरू की थी, लेकिन अभी तक जांच एजेंसी के हाथ खाली ही हैं। करसोग के कतांडा जंगल जहां पर फॉरेस्ट गार्ड होशियार सिंह की हत्या हुई थी, वहां कई पहलुओं पर जांच शुरू की। अभी तक CBI को पता नहीं चल पाया है कि होशियार का शव पेड़ पर लटका हुआ कैसे मिला।

एक माह के भीतर CBI को प्रदेश हाईकोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट भी दाखिल करनी होगी

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक मंडी पुलिस ने इस केस को आत्महत्या बताया था, जिसकी पूरी जांच CBI कर रही है। CBI अब तक मंडी पुलिस की रिपोर्ट के मुताबिक सभी एविडेंस पर काम कर रही है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सीबीआई ने अब तक 59 लोगों के बयान दर्ज किए हैं। CBI ने वनरक्षक मौत मामले में दर्ज FIR में हालांकि किसी को नामजद नहीं किया है। CBI द्वारा गठित जांच टीम एसपी वीके विर्दि के नेतृत्व वाली टीम इन दिनों करसोग के कतांडा सहित समीपवर्ती क्षेत्रों में संदिग्धों से पूछताछ कर रही है।

बताया गया कि FIR दर्ज होने के एक माह के भीतर CBI को प्रदेश हाईकोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट भी दाखिल करनी होगी। यानी 27 नवंबर तक प्रदेश हाईकोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट दायर करनी होगी। गौर रहे कि 9 जून को मंडी के कतांडा बीट में वन रक्षक होशियार सिंह का शव पेड़ पर उल्टा लटका हुआ मिला था। CID की जांच रिपोर्ट से लोग और भड़क गए। इसके बाद 13 सितंबर को प्रदेश हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए होशियार सिंह की हत्या मामले की जांच सीबीआई को सौंपने के आदेश दिए थे।

फॉरेस्ट गार्ड मामले में हमारी टीम जांच कर रही है, इसके लिए समय लग सकता हैं। सभी पहलुओं की गंभीरता से जांच चल रही है।-आरके गौड़, प्रवक्ता CBI।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams