News Flash
girl trapped addiction

पुलिस वालों ने पहले नशे में फिर जिस्मफरोशी में धकेला

हिमाचल दस्तक। मोगा
विदेश जाने की चाह पूरी न होने पर युवा किस तरह नशे की दलदल में फंसते जा रहे हैं इसकी मिसाल कोटईसेखां में श्री गुरु ग्रंथ साहिब सत्कार कमेटी की ओर से इस दलदल से निकालकर नशा छुड़ाओ केंद्र तक पहुंचाई गई लड़की से मिलती है। शनिवार को कमेटी सदस्य उक्त लड़की को एक ढाबे से नशे में चूर देखकर अपने साथ लेकर एसएसपी दफ्तर पहुंचे तो एसएसपी ने थाना सिटी के एसएचओ गुरप्रीत सिंह को उसे एक निजी ड्रग डी एडिक्शन सेंटर में दाखिल करवाने के आदेश दिए हैं। पीडि़त लड़की ने भी इस दलदल से निकलने के लिए हामी भरी है। इस दौरान लड़की ने जो कहानी बयां की वह बेहद चौंकाने वाली है।

पीडि़त लड़की ने बताया कि उसके पिता की मौत हो चुकी है। उसने बीएससी नर्सिंग कर आइलेट्स में 6 बैंड हासिल किए लेकिन परिवार उसे विदेश पढऩे भेजने में असमर्थ था। इससे वह परेशान रहने लगी और 3-4 महीने पहले घर छोड़कर एक ढाबे में रहने लगी। यहां कुछ पुलिस मुलाजिमों ने उसके जिस्म से खेला और चिट्टे की लत लगा दी। चिट्टे की लत लगी होने के कारण जब नशे के लिए पैसे नहीं मिले तो उसे जिस्मफरोशी के धंधे में धकेल दिया गया।

इस तरह वह जिस्म बेचकर पैसा कमाती और दौलेवाल जाकर नशा लाकर नशा करने लगी। उधर, पुलिस वालों पर लगे आरोप पर एसएचओ सिटी-1 गुरप्रीत सिंह कहते हैं कि युवती के नशे की लत से निकलने के बाद इस संदर्भ में युवती के बयान लिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इसके बाद दोषी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

यह भी पढ़ें – हमीरपुर से ओबीसी वर्ग का होगा उम्मीदवार

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams