शिकायत के बावजूद नही पहुंचे माइनिंग कर्मचारी

हिमाचल दस्तक, धीरज चोपड़ा। पांवटा साहिब

पांवटा साहिब के नवादा में खनन माफियाओं के हौसले इतने बुलंद हो गए कि उफनती गिरी नदी के बावजूद भी सरेआम नदी में ट्रैक्टर से खनन कर रहे है। जान की परवाह किए बगैर अवैध खनन का धंधा जोरों पर है, जोकि रुकने का नाम नहीं ले रहा है। बरसात के चलते गिरी नदी रविवार को अपने उफान पर थी। मगर सोमवार की सुबह सतौन की गिरी नदी में खनन माफिया अपनी जान जोखिम में डालकर अपने ट्रैक्टरों में रेत और बजरी भर खनन करने में लगे हुए थे। बरसात के इस मौसम में गिरी, बाता व यमुना नदी से रेत बजरी उठाने पर पूर्ण रोक है।

illegal mining paonta sahib

गिरी नदी में जल स्तर बढऩे के कारण कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है। इसके लिए प्रशासन ने लोगों को बरसात के दिनों में किसी भी नदी नालो में ना जाने की चेतावनी है। इसके बाजजूद सोमवार को सतौन की गिरी नदी में 10 से 12 ट्रेकटर रेत बजरी भरते नजर आए। स्थानीय लोगों ने माइनिंग विभाग को इसकी जानकारी भी दी। मगर माइनिंग विभाग की टीम सूचना के एक घंटे के बाद पहुंची, तब तक सभी मौके से जा चुके थे।

बता दें कि इस समय गिरी नदी पूरे उफान पर है। इसके चलते कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है। माइनिंग अधिकारी मंगतराम ने बताया उन्हें शिकायत मिली थी। इसके बाद उन्होंने अपने कर्मचारियों को मौके पर भेज दिया था, मगर तब वहां पर कोई नहीं था।

Leave a comment

कृपया अपना विचार प्रकट करें