ऊना पुलिस ने स्कूलों के बाहर चेतावनी देकर छोड़े छात्र

कहा, यातायात नियमों का उल्लंघन अब नहीं किया जाएगा बर्दाश्त

हिमाचल दस्तक। ऊना

बुलेट पर पटाखा फोडऩे के बाद पुलिस ने अब नाबालिग बच्चों के वाहन चलाने पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। सोमवार को पुलिस ने आधा दर्जन स्कूलों के बाहर खड़े होकर नाबालिग वाहन चालकों को काबू किया, जिन्हें चेतावनी देकर छोड़ दिया गया। पुलिस ने साफ कहा कि अगर कोई इसके बाद नाबालिग वाहन चलाता पाया गया, तो कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। साथ ही इसकी सूचना बच्चों के अभिभावकों को भी दी जाएगी।

जानकारी के अनुसार सोमवार को पुलिस की टीम ने शहर के विभिन्न स्कूलों के बाहर विशेष अभियान चलाया। स्कूल शुरू होने व छुट्टी होने के उपरांत पुलिस टीम ने विभिन्न स्कूलों के बाहर नाबालिग वाहन चालकों को रोका और कागजपत्र चेक किए। जिन बच्चों का लाईसेंस नहीं था, उन्हें चेतावनी देकर छोड़ा गया। पुलिस द्वारा चलाए गए इस अभियान के दौरान कई बच्चे पुलिस को देख चोर रास्ते से भागते नजर आए। जिन नाबालिगों को पुलिस ने काबू किया, उन्हें यातायात नियम के पाठ भी बढ़ाए। स्कूली बच्चों में जो बालिग थे, उन्हें हेल्मेट का प्रयोग करने को कहा गया।

पुलिस टीम ने कहा कि वाहन चलाने से पहले लाईसेंस जरूर बनवाएं। अन्यथा पुसिल चालान करने के साथ-साथ वाहन को जब्त करेगी। पुलिस अधीक्षक दिवाकर शर्मा ने कहा कि विशेष अभियान के दौरान पहले दिन पुलिस ने विभिन्न स्कूलों के आगे नाका लगाकर बच्चों को यातायात नियम के प्रति जागरूक किया और कईयों को चेतावनी देकर छोड़ा। उन्होंने कहा कि इस दौरान कई परिजनों से संपर्क भी किया गया। उन्होंने कहा कि पुलिस का ये अभियान भविष्य में भी जारी रहेगा। कोई भी नाबालिग स्कूली छात्र वाहन चलाता पाया जाता है, तो वाहन को जब्त किया जाएगा।

Leave a comment

कृपया अपना विचार प्रकट करें