News Flash
obscene acts

महिला की शिकायत पर मार्कफेड का डीएम सस्पेंड

जांच अधिकारियों के सामने फूट-फूटकर रोईं कई अन्य लड़कियां

हिमाचल दस्तक। अमृतसर
मार्कफेफ के डिस्ट्रिक्ट मैनेजर (डीएम) कुलदीप सिंह पर कार्यालय में ही तैनात सीनियर असिस्टेंट ने यौन उत्पीडऩ के आरोप लगाए हैं। आरोपों के बाद कुलदीप सिंह को विभाग से सस्पेंड कर दिया गया है। पंजाब मार्कफेड के एमडी वरुण रूजम ने बताया कि पहले कुलदीप सिंह का जालंधर तबादला कर दिया गया था, लेकिन बाद में उन्हें सस्पेंड कर दिया गया। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।
एडीसीपी लखबीर सिंह ने बताया सीनियर असिस्टेंट की शिकायत पर कार्रवाई की जा रही है।

महिला के साथ कुछ अन्य लोगों ने सामूहिक शिकायत दी है। शिकायत पर छह लोगों के बयान दर्ज किए जा चुके हैं। सात महिलाओं के अभी बयान दर्ज किए जाने बाकी हैं। उन्हें समन भेज दिया गया है। उन्होंने बताया कि मार्कफेड की टीम (एंटी सेक्सुअल हरासमेंट कमेटी) भी सीनियर असिस्टेंट और कार्यालय में काम करने वाली महिलाओं के बयान दर्ज कर रही है। पीडि़त महिला ने पुलिस को बताया कि वह मार्कफेड में पिछले छह साल से काम कर रही है। छह महीने पहले कुलदीप सिंह ने वहां मैनेजर का पद संभाला था।

तब से वह उस पर बुरी नजर रख रहा था। अपने केबिन में बुलाकर फालतू में सवाल-जवाब किया करता था। जब विरोध किया तो उसकी एसीआर खराब करने की धमकी दी। जब पुलिस को शिकायत करने की चेतावनी दी तो उसे किसी अन्य जिले में तबादला करने की धमकी दी गई। पीडि़ता ने पुलिस को बताया कि वह 23 अक्तूबर को कुलदीप सिंह से छुट्टी मांगने गई थी। इस दौरान डीएम ने उससे अश्लील हरकतें की। उसने सारी बात घर पहुंच कर पति को बताई। इसके बाद डायरेक्टर मार्कफेड, नेशनल वूमेन कमीशन और पुलिस कमिश्नर अमृतसर को शिकायत की गई।

डीएम की प्रताडऩा के बारे में बताते हुए सभी लड़कियां फूट-फूट कर रोने लगीं

मार्कफेड कार्यालय में तैनात सीनियर असिस्टेंट के साथ पांच अन्य लड़कियां पंजाब महिला आयोग की चेयरपर्सन मनीषा गुलाटी के कार्यालय पहुंची। उन्होंने डीएम की करतूत का चेयरपर्सन को विस्तार से ब्योरा दिया। डीएम की प्रताडऩा के बारे में बताते हुए सभी लड़कियां फूट-फूट कर रोने लगीं। उन्होंने आरोप लगाया कि डीएम कुलदीप सिंह उन्हें कई बार मानसिक रूप से परेशान कर चुका है। चेयरपर्सन ने आश्वासन दिया है कि मामले की जांच करवाई जाएगी।

आरोप साबित होने पर एफआइआर भी होगी और अदालत से सजा भी दिलाई जाएगी। एडीसीपी लखबीर सिंह ने बताया कि मार्कफेड के डीएम पर सेक्सुअल हरासमेंट के आरोप की जांच के लिए एसआइटी (स्पेशल इनवेस्टीगेशन टीम) नियुक्त की गई है। इसकी सदस्य एसीपी ऋचा अग्निहोत्री, इंस्पेक्टर परमदीप कौर और रंजीत एवेन्यू थाने के इंस्पेक्टर सुख इंद्र सिंह हैं।

यह भी पढ़ें – सुमित मामले की सीबीआई जांच करवाई जाए – रायजादा

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams