News Flash
fraud badsar hamirpur

बैंक ने होम लोन के पैसे बिना सूचना के जमा किए दूसरो के खातों में

कंडाघाट पुलिस ने भी किया मामला दर्ज

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। कंडाघाट

जिला सोलन के कंडाघाट थाने में बैंक की लापरवाही का मामला सामने आया है। कंडाघाट पुलिस स्टेशन में राजीव कंवर ने शिकायत दर्ज करवाई है कि उनके पिता मोहन सिंह वर्ष 2015 में एस.एसबी से सेवानिवृत हुए थे। सेवानिवृत होने के बाद उन्होंने यूकों बैंक सायरी से होम लोन लेने के लिए आवेदन किया। बैंक द्वारा भी उनके इस आवेदन को स्वीकार कर लिया गया। लेकिन 21 जून 2017 को जब उनके खाते में होन लोन की दूसरी किश्त 10 लाख रुपए आए तो वह उसी दिन कट भी गए। इस बारे में मोहन सिंह को कुछ भी पता नहीं था। लिहाजा जब वह पैसे निकालने गए तो उनके खाते में पैसे नहीं थे।

इसकी सूचना बैंक मेनेजर अनिल को दी गई। सूचना मिलने के बाद बैंक मेनेजर ने देखा कि मोहन सिंह के खाते में से गलती से धनराशि दूसरे खातों में डाल दी गई है। यह बात मोहन सिंह के सामने बैंक मेनेजर ने मान भी ली कि यह सब कुठ गलती से हुआ है। इसके साथ ही बैंक मेनेजर ने यह आश्वासन भी दिया कि जल्द ही उनके पैसे खाते में डाल दिए जाएंगे। लेकिन मोहन सिंह के खाते में पैसे नहीं डले। कई बार बैंक मेनेजर को इस बारे में बताया गया, लेकिन इसके बावजूद भी रकम उनके खाते में नहीं डाली गई।

इसके बाद मोहन सिंह ने सूचना के अधिकार अधिनियम के अंतर्गत एक प्रार्थना पत्र सूचना अधिकारी युको बैंक शिमला को लिखा गया। जिसमे कि उन्होंने अपने खाते से दस लाख रुपए कटने के बारे में सूचना मांगी। जिसका उत्तर मिलने पर पता चला कि दस लाख रुपए की राशि उनके खाते से दो लाख रुपए हिरा लाल गांव नियु, दो लाख रुपए समीक्षा धवन, तीन लाख रुपए दीक्षा धवन दोनो पुत्रियों, संजीव धवन गांव सायरी और तीन लाख रुपए साक्षी धवन पुत्री राजीव धवन गांव सायरी के खाते मे डाल दिए थे। यह बैंक की लापरवाही के चलते हुआ है।

वहीं मामले की पुष्टि वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. मधू सूदन शर्मा ने की। उन्होंने कहा कि पुलिस ने मामला दर्ज करके छानबीन शुरु कर दी है।

This is Rising!

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams


[recaptcha]