Paris

Paris: अपने ही नागरिकों पर कथिततौर पर रासायनिक हमला करने की प्रतिक्रिया में अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने सीरिया पर 100 से ज्यादा मिसाइल अटैक किए हैं।

इसके बाद सीरिया संकट और भी गहरा गया है। एक तरफ फ्रांंस ने दावा किया है कि सीरिया के रासायनिक हथियारों के जखीरे का ज्यादातर हिस्सा तबाह कर दिया गया है और उसने (सीरिया) सबक सीख लिया है। वहीं, इस कार्रवाई से रूस और ईरान तिलमिला गए हैं। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने इस हमले की कड़ी निंदा की है।

पुतिन ने इसे आक्रामक कार्रवाई करार देते हुए कहा है कि इससे सीरिया में मानवीय संकट बढ़ जाएगा। उधरए ईरान के सुप्रीम लीडर अयातुल्ला अली खमनेई ने कहा है कि सीरिया पर अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन की ओर से किया गया हमला एक अपराध था और इससे कुछ भी हासिल नहीं होगा।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams