patient prisoner

मौके पर थे पुलिस जवान, चकमा देकर फरार हुए कैदी को 40 घंटे बाद भी कोई सुराग नहीं

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। नाहन
बुधवार को फरार कैदी की ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों पर अपराधिक मामला दर्ज कर लिया गया है। बुधवार की सुबह मरीजों की आंख खुलने से पहले पुलिस की आंख में धूल झौंककर फरार हुए कैदी का अभी तक कोई सुराग नहीं लग पाया है। जबकि जिला सिरमौर पुलिस कप्तान ने संदिग्ध जगहों पर नाके लगाकर पूरी रात जंगल की कॉबिंग व तलाशी अभियान चलाया।

हिमाचल दस्तक की टीम ने स्वयं नाहन मेडिकल कॉलेज के पुरुष सर्जिकल वार्ड में जाकर स्थिति का जायजा लिया। फरार कैदी लक्षमण पटेल एक नंबर बैड़ पर एडमिट था शिफ्ट में 2 पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगी हुई थी। जबकि दो पुलिसकर्मी अपनी शिफ्ट पूरी करके जा चुके थे। साथ लगते बैड पर एडमिट मरीजों से जब बातचीत की, तो उन्होंने बताया कि सुबह गोधूलि से पहले कैदी अपने बैड पर ही था।

कहा बीमार कैदी आंख बचाकर पुलिस की आंखों में धूल झोंककर हुआ होगा फरार

अन्य मरीजों का कहना है कि दो पुलिस वाले भी साथ लगते बैड पर बैठे हुए थे। वह पूरी तरह से मुस्तैद होकर अपनी ड्यूटी दे रहे थे। चूंकि मनीष की कमर का ऑपरेशन हुआ था। मरीज कैदी बार-बार टॉयलेट जा रहा था। सुबह का वक्त था अन्य मरीज भी टॉयलेट जाने की तैयारी कर रहे थे। इसी दौरान बीमार कैदी ने आंख बचाकर पुलिस की आंखों में धूल झोंककर फरार हुआ होगा। हालांकि पुलिस कर्मियों ने मरीज कैदी की सुरक्षा के मद्देनजर ही कोने का एक नंबर बैड लिया होगा।

मगर मरीज कैदी से हमदर्दी और उसकी बीमार हालत ने पुलिस की वर्दी पर दाग लगा दिया। ऐसा नहीं है कि पुलिसकर्मी वहां नहीं थे। मरीजों ने नाम ना छापने की शर्त पर कुछ स्टाफ ने यह भी बताया कि मरीज की जैसी हालत बनी हुई थी। उसको लेकर भागने का तो सवाल ही पैदा नहीं हो सकता था। इसी स्थिति को ध्यान में रखते हुए पुलिसकर्मियों ने शायद चूक वाली लापरवाही बरती।

कैदी का कमर में एक बीमारी की वजह से हुआ था ऑपरेशन

गौर हो कि आरोपी कैदी हत्या के जुर्म में नाहन सैंट्रल जेल में था, कमर में एक बीमारी की वजह से उसका ऑपरेशन हुआ था। मरीज कैदी करीब 20 दिनों से अस्पताल में था। टॉयलेट से काफी देर तक बाहर ना निकल आने पर ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों ने जब टायलेट को देखा, तो वह खाली था। उसके बाद उनके पांव तले की जमीन खिसक गई। उन्होंने पूरे अस्पताल की खाक छान मारी। मगर कैदी का सुराग कहीं ना मिला। कैदी के फरार होने पर पुलिस महकमे में हड़कंप मचा रहा।

पूरी रात कालाआम, दो सडका, जडजा, आमवाला, सैन वाला, धौला कुआं, पांवटा साहिब, कोलर सहित दर्जनों जगह पुलिस ने नाकेबंदी कर रखी थी। यही नहीं पुलिस सादे लिबास में भी कैदी की तलाश में जुटी रही। मगर 40 घंटे बीत जाने के बाद तक फ रार अपराधी को पुलिस पकड़ पाने में नाकामयाब रही है। एसपी रोहित मालपानी ने पुष्टि करते हुए बताया कि फ रार अपराधी व आईआरबी 6 बटालियन के आरक्षियों के खिलाफ अंतर्गत धारा आईपीसी 223, 224 हुए दफा 34 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।

रिपोर्टर – बबीता शर्मा। नाहन

यह भी पढ़ें – PGT से हटेगी आठवीं तक की फांस

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams