News Flash
Fake degree gang case in Shimla

शिमला में फर्जी डिग्री गिरोह मामला , पुलिस अब विश्वविद्यालय से जुड़े तार की भी तलाश में

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला : हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय की पुर्जी डिग्रियां बेचने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को शिमला पुलिस ने गिरफ्तार कर शुक्रवार अदालत में पेश किया, जहां उन्हें पांच दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। इन तीनों पर आरोप है कि ये 15 से 20 हजार रुपये में एचपीयू समेत विभिन्न विश्वविद्यालयों की फर्जी डिग्रियां बेचते थे।

शिमला की सदर थाना पुलिस ने बीती रात आरोपियों को काबू किया। इनके कब्जे से हिमाचल प्रदेश विवि की तीन फर्जी डिग्रियां पकड़ी गई हैं। आरोपियों की पहचान जय देव, सुनील और सौरभ के रूप में हुई है और ये तीनों ठियोग के बड़ोग गांव के रहने वाले हैं। डीएसपी हैडक्वार्टर प्रमोद शुक्ला ने शुक्रवार को बताया कि सिरमौर के एक वकील ने पुलिस को सूचना दी कि कुछ लोग एचपीयू की डिग्रियां बेचने का झांसा देकर उसके एक रिश्तेदार से मोटी रकम मांग रहे हैं। इस पर पुलिस ने आरोपियों को पकडऩे के लिए जाल बिछाया और ग्राहक बनकर संपर्क किया।

तीन डिग्रियों का सौदा 20 हजार में तय होने पर पुलिस ने उन्हें मिलने के लिए शिमला बुलाया। रात करीब दस बजे तीन आरोपी कार से लिफ्ट के निकट कार्ट रोड पहुंचे, जहां इन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस के मुताबिक तीनों आरोपी एक ही गांव के रहने वाले हैं और बेरोजगार हैं। इनके विरुद्ध आईपीसी की धारा 420 के तहत किया दर्ज किया गया है। उधर, इस संदर्भ में एचपीयू प्रशासन भी हरकत में आ गया है। एचपीयू के परीक्षा नियंत्रक ने बताया कि बहरहाल अभी तक हमसे पुलिस ने कोई जानकारी नहीं ली है। लेकिन आरोपियों से यदि कोई प्रदेश विश्वविद्यालय में जुड़ा पाया जाता है तो जरुर जांच कर उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

 

 

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams