News Flash
Three live burns in Chamba and Shimla

दर्दनाक हादसे: घर में लगी आग से दो मासूम भाइयों की गई जान , ढाबे में लगी आग से अंदर सो रहे मजदूर की मौत

हिमाचल दस्तक। चंबा/ शिमला : बुधवार को चंबा और शिमला में हुए अग्निकांडों में दो बच्चों और एक युवक की जिंदा जलने से मौत हो गई। पहली घटना में चंबा जिला की ग्राम पंचायत सुंगल के गांव पंजूण में अचानक लगी आग में दो बच्चे ईशू (5) और विकास (7) जिंदा जल गए। दोपहर करीब एक बजे घर की उपरी मंजिल पर घास रखने के लिए बनाए कमरे में आग लग गई।

इसने वहां खेल रहे दो बच्चों को अपनी चपेट में ले लिया। जब घर में आग लगी, उस वक्त दोनों मासूम वहीं खेल रहे थे। जबकि परिवार के अन्य सदस्य घर पर मौजूद नहीं थे। जब तक पता चला आग फैल चुकी थी। ग्रामीणों ने बच्चों को बचाने का भरसक प्रयास किया लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। अग्निशमन कर्मचारियों ने मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पाया गया। आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है। हादसे की सूचना मिलने पर एसडीएम चंबा दीप्ति मंढोत्रा, एसएचओ सदर थाना चंबा प्रशांत ठाकुर सहित स्थानीय पंचायत प्रधान भुवनेश शर्मा मौके पर पहुंचे।

वहीं दूसरी घटना शिमला के चलोंठी गांव की है। यहां पर एक ढाबा में लगी आग से भीतर सो रहा युवक जिंदा जल गया। वह ढाबे में ही काम करता था और नेपाली मूल का था। अमर चंद राठौड़ की घर से 500 मीटर दूर दुकान (फौजी ढाबा) है। नेपाल निवासी मोहन सिंह (24) वहीं पर काम करता था। बुधवार सुबह करीब चार बजे जब लोगों ने दुकान में आग लगी देखी तो शोर मचाया। दुकान मालिक मौके पर पहुंचा और फायर ब्रिगेड को बुलाया गया। फायर कर्मियों ने स्थानीय लोगों की मदद से आग पर काबू पाया गया लेकिन तब तक मोहन सिंह की जलकर मौत हो चुकी थी। वहीं डीएसपी सिटी दिनेश शर्मा और नायब तहसीलदार ग्रामीण एचएल भेस्ता भी घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया।

यह भी पढें :

2008 से सीनियोरिटी तय करने पर कैबिनेट की मुहर

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams