News Flash
Unhappy with the police action, the father requested SP Mandi to investigate the matter.

बेटा स्टोव फटने से नही पेट्रोल से जलाकर मारा है 

ललित ठाकुर । पधर : उपमंडल की ग्राम पंचायत जिल्हण के देवधार गांव निवासी रामचंद ने पुलिस पर बेटे की हत्या के मामले में कार्रवाई करने के बजाए पर्दा डालने का आरोप लगाया है। पीड़ित बाप का कहना है कि विनय मेरा इकलौता बेटा था, जो मेरे बुढ़ापे का सहारा था। जिसकी उसके चचेरे भाइयों ने पेट्रोल छिड़क कर हत्या की है।

राम चंद ने पुलिस अधीक्षक मंडी से इस बारे में कड़ी कार्रवाई अमल में लाते हुए आरोपियों को हिरासत में लेने की मांग उठाई है।
रामचंद का आरोप है कि पुलिस ने स्टोव फटने से बेटे विनय कुमार की मौत होने का मामला बनाकर मामले की सच्चाई पर पर्दा डाला है। पीड़ित बाप का कहना है कि वह अशिक्षित और गरीब परिवार से संबंध रखता है। पुलिस जांच में उसकी आवाज को दबाया जा रहा है।
उल्लेखनीय है कि यह वारदात बीते 6अक्तूबर रात की है। जिस दिन राम चंद किसी व्यक्तिगत कार्य के चलते घर से कहीं बाहर गया था। जबकि उसका बेटा विनय कुमार घर पर अकेला था। जो रात को अपने चचेरे भाइयों के साथ खाने पीने बैठा था। सात अक्तूबर को राम चंद के भाई छरूंडू राम ने जानकारी दी कि विनय कुमार के पेट में दर्द हुआ है उसे जोगिंदरनगर अस्पताल भर्ती करवाया था, जहां से टांडा मेडीकल कालेज रेफर किया गया है।

 राम चंद ने कहा कि इसके बाद घटना के दिन मौका पर मौजूद प्रेम सिंह ने मोबाइल पर उसे बताया कि विनय कुमार की चचेरे भाइयों के साथ कहासुनी हुई है। बताया कि विनय के चचेरे भाई राजेश कुमार ने विनय कुमार के उपर पेट्रोल छिड़का है और सतीश कुमार ने माचिस फैंकी है, जिस कारण वह जल गया और टांडा मेडीकल कालेज में एडमिट है। रामचंद के मुताबिक उसी दिन पधर पुलिस थाना में एफआइआर दर्ज करवाई।

24अक्टूबर को विनय ने टांडा मेडिकल कालेज में दम तोड़ दिया। जिससे पीड़ित बाप पूरी तरह परेशान है। न्याय को लेकर बार बार पुलिस थाना के चक्कर काट रहा है। लेकिन कोई सुनवाई नही हो रही है। पीड़ित ने आरोप लगाया कि वारदात के साक्षी प्रेम सिंह द्वारा पुलिस को बयान देने बावजूद पुलिस ने जांच की दिशा को मोड़ दिया है। स्टोव फटने से विनय कुमार के जल जाने का मामला बनाया गया है।
राम चंद ने कहा कि उन्हें अंदेशा नहीं पूरा विश्वास है कि बेटे की तेल छिड़क आग लगाकर उसकी निर्मम हत्या की गई है।पुलिस ने घटना स्थल से जिस स्टोव को बरामद किया है वह मामले पर पर्दा डालने के लिए कहीं से यहां लाकर रखा गया। जो कहीं से फटा नहीं है। ऐसा होता तो बेटे के साथ मौजूद अन्य लोग भी चपेट में आते। रामचंद ने कहा कि वह गरीब इंसान है और उसके पास स्टोव भी नहीं है। चुल्हे पर लकड़ी जला कर भोजन पकाया जाता है। राम चंद ने पुलिस अधीक्षक मंडी से मामले की न्यायिक जांच की मांग उठाते हुए इंसाफ की गुहार लगाई है।
मामले की स्वयं जांच की है। कोई भी इस तरह का बयान किसी ने नही दिया है। पुलिस ने मौके से स्टोव बरामद किया है। जबकि कपड़े जांच के लिए फोरेंसिक लैब भेजे गए हैं। जिनकी रिपोर्ट आना बाकी है। छानबीन में ऐसा कुछ भी नही पाया गया है। 
–मदनकांत शर्मा, एसडीपीओ पधर।

This is Rising!

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams


[recaptcha]