exam practical knowledge

क्यों जरूरी है ऐसा करना, आइए जानते हैं…

तकनीकी और गैर-तकनीकी पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने वाले उत्साह से भरे विद्यार्थी सिर्फ परीक्षा के लिए पढ़ाई करने के बजाय ज्ञान बढ़ाने और उससे जुड़ी व्यावहारिक बारीकियों को जानने पर फोकस करें। क्यों जरूरी है ऐसा करना, आइए जानते हैं…

बारहवीं के बाद ज्यादातर विद्यार्थी अपने पसंदीदा कोर्स में प्रवेश लेने के बाद अब यह जरूरी है कि आप पढ़ाई का पूरा आनंद उठाते हुए खुद को ज्यादा-से-ज्यादा ग्रूम करने का प्रयास करें।

विषय को समझें

ज्यादातर विद्यार्थी अपने कोर्स-करिकुलम पर इस नजरिए से मेहनत करते हैं, ताकि परीक्षा में ज्यादा-से-ज्यादा अंक हासिल कर सकें। मगर अब सिर्फ इतना ही पर्याप्त नहीं है। अब जॉब मार्केट और इंडस्ट्री की जरूरतों को समझते हुए थ्योरी से कहीं अधिक प्रैक्टिकल पर जोर देना होगा। व्यावहारिक नजरिए से विषय को समझें।

इंडस्ट्री को जानें

अपनी पढ़ाई के आधार पर जिस इंडस्ट्री में अपना कॅरियर संवारने के सपने देख रहे हैं, उसकी बदलती जरूरतों को समझें। अगर कॉलेज की तरफ से इंडस्ट्री से रेगुलर इंटरैक्शन होता है और इंडस्ट्री के लोग आपके यहां नियमित रूप से आते हैं, तो यह बहुत अच्छी बात है। अगर ऐसा नहीं होता, तो भी हाथ पर हाथ धरे बैठे न रहें। खुद पहल करें। जब भी समय मिले, संबंधित इंडस्ट्री के लोगों से मिलें। उनसे संपर्क बढ़ाएं। उनसे अपने विषय से जुड़ी व्यावहारिक बारीकियों को जानें-समझें।

सीखें साथ-साथ

तकनीकी कोर्स के आखिरी साल में होने वाली कंपल्सरी इंटर्नशिप का इंतजार न करते हुए पढ़ाई के तीसरे साल में ही खुद पहल करें। सुबह या शाम जब भी समय हो या फिर वीकेंड पर, संबंधित इंडस्ट्री से जुड़े दफ्तर में जाएं। वहां के प्रभारी से अनुरोध करें कि वे आपको प्रैक्टिकल ट्रेनिंग लेने की अनुमति दें। एक जगह कामयाबी न मिले, तो दूसरी या तीसरी जगह प्रयास करें। जहां भी मौका मिले, वहां पूरी विनम्रता और ईमानदारी से प्रशिक्षण प्राप्त करें। वहां के सीनियर्स जो भी काम सौंपें, उसे करें।

ऐसा करने पर आप कुछ ही महीनों में बहुत कुछ सीख जाएंगे। इस प्रक्रिया को कोर्स पूरा होने तक जारी रखें। इस तरह आप न सिर्फ इंडस्ट्री की बदलती जरूरतों के अनुसार खुद को ढाल सकते हैं, बल्कि कोर्स पूरा होने के बाद आपको नौकरी के लिए भटकना भी नहीं पड़ेगा। फिर आप देखेंगे कि कैसे पहले दिन से ही आउटपुट देने में सक्षम होने के कारण आपके पीछे जॉब्स की लाइन लगती है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams