hindi medium students

आज हम कुछ करियर ऑप्शनों के बारे में बता रहे हैं

भारत में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है हिंदी। लेकिन बात जब इस भाषा को अपने करियर की तरह चुनने की आए तो उतने ही कम ऑप्शंस सामने आते हैं। इसी परेशानी के चलते कई होनहार बच्चों या स्टूडेंट्स की ग्रोथ रुक जाती है। लेकिन ऐसे स्टूडेंट्स अपनी स्किल्स को जानकर और सही विषयों को चुनकर इसी भाषा के जरिए बेहतरीन करियर ऑप्शंस चुन सकते हैं।

ऐसा करके उन सभी स्टूडेंट्स को यह क्लीयर होगा कि वो किस तरफ अपना करियर मोडऩा चाहते हैं और भविष्य में क्या बनना चाहते हैं। आज हम कुछ करियर ऑप्शनों के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें हिंदी मीडियम के स्टूडेंट्स चुन सकते हैं…

मीडिया

इंडिया में आज भी टॉप पर सबसे ज्यादा चैनल, न्यूजपेपर और वेबसाइट्स हिंदी में हैं। अगर आप अप-टू-डेट रहना पसंद करते हैं और खबरों को फॉलो करते हैं तो यह जॉब आपके लिए ही है। इसमें भी आपको अपनी स्किल्स के अनुसार पता लगाना होगा कि आप किस मीडियम में बेस्ट हैं। जैसे अगर आप अच्छा बोल सकते हैं तो आप टीवी चुनें। अगर अच्छा लिख सकते हैं, तो न्यूजपेपर और वेबसाइट चुनें। हिंदी भाषा के स्टूडेंट्स इस फील्ड में आने के लिए मास कम्युनिकेशन, जर्नलिज्म या फिर टीवी कोर्सेज करके एंट्री पा सकते हैं।

टीचिंग

टीचिंग आज भी हमारे समाज में सबसे रिसपेक्टफुल जॉब्स में से एक मानी जाती है और पहले के मुकाबले अब इसमें पैसा भी अच्छा मिलता है। हिंदी भाषा के स्टूडेंट्स स्कूल टीचिंग में तो जा ही सकते हैं, लेकिन इसके अलावा भी वो ट्यूशन देकर अच्छी कमाई कर सकते हैं। आजकल अंग्रेजी भाषा के बढ़ते कल्चर के चलते हिंदी पीछे छूटती जा रही है, लेकिन स्कूलों में आज भी यह भाषा मुख्य विषयों में से एक है। जिसके चलते हिंदी ट्यूटर्स की मांग दिनों दिन बढ़ती जा रही है। इसे आप अपने पार्ट टाइम काम के साथ भी कर सकते हैं और चाहें तो फुल टाइम करियर की तरह भी कोचिंग सेंटर खोल सकते हैं।

कॉल सेंटर्स

कॉलेज टाइम में अधिकतर स्टूडेंट्स पार्ट टाइम जॉब के लिए कॉल सेंटर्स का रुख करते हैं। क्योंकि यहां अंग्रेजी के साथ-साथ हिंदी में भी कॉलिंग सर्विसेज होती हैं और कमाई के मामले में भी यह बेस्ट ऑप्शन है। आप चाहें तो इसे भी अपने करियर के तौर पर चुन सकते हैं।

टाइपिंग

कई बड़ी कंपनियां हिंदी उपभोक्ताओं को लुभाने के लिए अपने प्रोजेक्ट को हिंदी में लिखवाती हैं, ताकि इंडिया में उनका ब्रैंड हिंदी लोगों तक पहुंच सके। इसके लिए वो अपनी हिंदी टीम या फिर हिंदी राइटर आउटसोर्स करते हैं, ताकि उनसे पीआर कॉपीज, प्रोडक्ट डिसक्रिप्शन आदि हिंदी में लिख सकें। कॉरपोरेट हाउसेस में पहले हिंदी का इतना चलन नहीं था, लेकिन आजकल हर कोई हिंदी भाषी जनता तक पहुंचना चाहता है। इसीलिए आप इसे भी अपने करियर के तौर पर चुन सकते हैं।

ट्रांसलेशन

अंग्रेजी किताबों का हिंदी अनुवाद या वेबसाइट डेटा का हिंदी अनुवाद जैसे कई ट्रांसलेशन के लिए हिंदी लिखने और समझने वालों की जरूरत होती है। ट्रांसलेटर्स की सबसे ज्यादा डिमांड पब्लिशिंग हाउसेस में होती है। क्योंकि इन्हें अपनी किताबों को हिंदी में अनुवाद कराना होता है। यहां पर प्रति शब्द या फिर किताबों के मुताबिक पैसा भी अच्छा दिया जाता है। आप इसे भी अपने करियर के तौर पर चुन सकते हैं।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams