News Flash
course

कोर्स

हर स्टूडेंट चाहता है कि स्कूल से निकलने के बाद वह डीयू के टॉप कॉलेज में एडमिशन ले, लेकिन यह चांस सभी के हाथ नहीं लगता। अप्लाई करने वाले आधे से ज्यादा स्टूडेंट्स को सीट्स नहीं मिल पातीं। लेकिन निराश होने की बजाय बेहतर यही है कि आप कॉलेज की बजाय किसी कोर्स को प्रेफर करें…

इन दिनों अधिकतर स्टूडेंट्स के सामने प्रॉब्लम है कि एडमिशन कहां लिया जाए? यूनिवर्सिटीज व कॉलेज कैंपस में सीटें लिमिटेड हैं और उनमें भी 90 और 95 पर्सेंटेज वाले स्टूडेंट्स को ही एडमिशन मिल पाता है। ऐसे में हजारों की संख्या में पास हुए स्टूडेंट्स जाएं तो कहां जाएं।

स्टूडेंट्स को एक-एक सीट पर स्ट्रगल करना पड़ रहा है और अगर एडमिशन मिल भी रहा है, तो उसमें क्वालिटी एजुकेशन से समझौता करना पड़ रहा है। इतने टफ कंपिटीशन में वह कॉलेज में पढऩे की बजाय किसी अच्छे कोर्स में एडमिशन लेना प्रिफर कर रहे हैं। अगर आप भी किसी अच्छे कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं, तो एक बार इन पर भी गौर कर लें।

बीटेक :

अगर इंजीनियरिंग करने की सोच रहे हैं, तो उसी कॉलेज से करें जिसकी मार्केट में डिमांड सबसे ज्यादा है और आपको प्लेसमेंट भी आसानी से मिल जाए। हर साल इंजीनियरिंग एग्जाम्स ऑर्गेनाइज किए जाते हैं और इसमें क्वॉलिफाइड कैंडिडेट को मेरिट के अनुसार कॉलेज अलॉट किए जाते हैं। अगर आपको इसी फील्ड में करियर बनाना है, तो इंजीनियरिंग का एंट्रेस एग्जाम देने से पहले कोचिंग ले लें।

मैथ्स ऑनर्स कोर्स :

अगर मैथ्स में रुचि है और मैथ्स पर अच्छी पकड़ है, तभी मैथ्स ऑनर्स कोर्स में एडमिशन लेने के बारे में सोचें। चूंकि मैथ्स में ऑनर्स कोर्स बहुत गिने-चुने लोग ही करते हैं, इसलिए इस फील्ड में जॉब मिलना थोड़ा ईजी होता है।

एनडीए एग्जाम :

साल में दो बार आयोजित होने वाली एनडीए एग्जाम भी आप ट्राई कर सकते हैं। इसमें आप आर्मी में बतौर ऑफिसर काम कर सकते हैं। यहीं नहीं, नेवी, एयरफोर्स, कोस्ट गाड्र्स में भी टेक्निकल और नॉन टेक्निकल कैटेगिरी में आपको मौका मिल सकता है।

कॉमन लॉ एडमिशन :

कॉमन लॉ एडमिशन भी आपके करियर के लिए बेस्ट साबित हो सकता है। इस एग्जाम के जरिए 14 नेशनल लॉ स्कूल, यूनिवर्सिटीज अपने अंडर ग्रेजुएट व पीजी प्रोग्राम में एंट्रेस करवाते हैं। इसके अलावा आप 12वीं के बाद सीए, सीएसए के एग्जाम भी दे सकते हैं।

अहम बातें : -सबसे पहले यह समझें कि आपको किस फील्ड में इंटरेस्ट है। -अपनी खूबी व कमजोरी को जानें। -स्किल्स करें डिवेलप।

डिजाइनिंग कोर्स

अगर डिजाइनिंग का इंटरेस्ट रखते हैं और साथ में क्रिएटिविटी के भी शौकीन हैं, तो आप 12वीं के बाद इससे जुड़े कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं। इसमें एंट्रेस एग्जाम क्लीयर करना होता है। आप इसी कोर्स के बूते आगे ग्राफिक डिजाइनिंग का कोर्स करके अपना फ्यूचर ब्राइट बना सकते हैं।

कंप्यूटर साइंस की डिमांड

कंप्यूटर साइंस की डिमांड काफी बढ़ रही है। हर फील्ड में कम्प्यूटर साइंस की जरूरत हो गई है। कई कॉलेजों में बीएससी (ऑनर्स) कम्प्यूटर साइंस कोर्स हैं, जहां आप एडमिशन ले सकते हैं।

मेडिकल में करियर

बायोस्ट्रीम के स्टूडेंट्स के लिए मेडिकल एग्जाम सबसे बड़ा गोल होता है। ज्यादातर एग्जाम्स अप्रैल व मई में होते हैं, इसलिए आपके पास भी समय है, इस कोर्स में अपना करियर बनाने का।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams


[recaptcha]