benefit small courses

रुचि के हिसाब से चुन सकते हैं कोर्सेज

आज से कुछ समय पहले सिर्फ कुछ ही करियर विकल्प होते थे, जैसे- डॉक्टर, इंजीनियर, सीए, बैंकर आदि। इस तरह के करियर चुनते समय किसी की रुचियों या योग्यताओं का ख्याल नहीं रखा जाता था। पर आज ऐसा नहीं है, युवा अपनी इच्छा और रुचि के हिसाब से चुन सकते हैं और उससे अपने जीवन को बेहतर बना सकते हैं। ऐसे कई कोर्सेज और ट्रेनिंग उपलब्ध हैं, जिनसे अलग-अलग और रुचिकर करियर का चुनाव किया जा सकता है…

वॉइस मॉड्यूलेशन

जैसा कि इस नाम से आपको पता चल ही गया होगा कि यह कोर्स आवाज से जुड़ा है। इस कोर्स या ट्रेनिंग में आपकी आवाज को ट्रेन किया जाता है। आवाज की गुणवत्ता को बढ़ाया जाता है। कई ऐसी तकनीक सिखाई जाती हैं, जिससे आपकी आवाज का उपयोग अलग-अलग जगहों पर किया जा सके। इस कोर्स के बाद आप फुल टाइम या पार्ट टाइम काम कर सकते हैं।

बेसिक फोटोग्राफी

यह कई लोगों की रुचि का विषय है, पर इससे पहले कभी आपने इसे करियर बनाने के विषय में नहीं सोचा होगा। पर कोई बात नहीं, अब सोच लीजिए। जी हां, आजकल फोटोग्राफी में भी कई तरह के कम अवधि के कोर्सेज हैं, जिन्हें करके आप प्रोफेशनल फोटोग्राफर बन सकते हैं। इसमें भी कई तरह की शाखाएं हैं, जैसे- फैशन, वाइल्ड लाइफ, फूड आदि। आप अपनी रुचि के अनुसार कुछ भी चुन सकते हैं। इस कोर्स की अवधि 2 से 5 दिन की हो सकती है। ये कोर्सेज ऑनलाइन भी उपलब्ध हैं।

बेकिंग और कुकिंग के कोर्सेज

आजकल बेकिंग और कुकिंग जैसी चीजों में सिर्फ लड़कियों की ही नहीं, बल्कि लड़कों की भी रुचि बढ़ रही है। ऐसे में इसे एक करियर के विकल्प के रूप में देखना गलत नहीं होगा। बेकिंग एंड कन्फेक्शनरी में सर्टिफिकेट कोर्सेज हैं। इसमें कई तरह के केक्स, आइसिंग्स आदि सिखाई जाती हैं। इस कोर्स की अवधि एक से दो साल की है। इसमें आप कई आधुनिक चीजों की क्राफ्टिंग व बेकिंग सीख सकते हैं।

फॉरेन लैंग्वेज

फॉरेन लैंग्वेज मतलब विदेशी भाषा। आज के ग्लोबलाइजेशन को देखते हुए विदेशी भाषा सीखना या आना बहुत ही महत्वपूर्ण है। फ्रेंच, जापानी, स्पैनिश, जर्मन आदि भाषाओं में कई तरह के कोर्सेज विश्वविद्यालयों में उपलब्ध हैं। इसके अलावा आप यह कोर्स निजी शिक्षण संस्थानों से भी कर सकते हैं। यह कोर्स ऑनलाइन भी उपलब्ध है। इसमें किसी भी फॉरेन लैंग्वेज में स्नातक-स्नातकोत्तर और डिप्लोमा
भी है।

कुछ और ऐसे ही कोर्सेज, जिनमें आप अपना करियर बना सकते हैं- परफॉर्मिंग आट्र्स, जैसे- डांस, म्यूजिक, अभिनय। फाइन आट्र्स, बार टेंडिंग, आर्ट ज्वेलरी, डिजिटल आट्र्स, मल्टीमीडिया कोर्सेज, बेबी सीटिंग कोर्सेज।

इंग्लिश कम्युनिकेशन स्किल्स

कम्युनिकेशन मतलब संवाद, इस तरह के कोर्स में अंग्रेजी में आपको अभ्यस्त कराया जाता है। आपको अंग्रेजी में किस तरह और क्या-क्या लिखा जा सकता है और किस तरह अलग-अलग लोगों से बात की जा सकती है, सिखाया जाता है। इस तरह के कोर्स की अवधि एक से दो हफ्ते हो सकती है।

इसमें आपको अंग्रेजी व्याकरण की पूरी जानकारी दी जाती है। इसके अलावा प्रोफेशनल तरीके से किस तरह से अंग्रेजी में बातचीत की जा सकती है, सिखाया जाता है। इस तरह के कोर्सेज में अगर आप अंग्रेजी भाषा चुनते हैं, तो आपको बीपीओ स्किल्स भी सिखाई जाती है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams