professional courses

कोर्स खत्म करने के बाद अपनी फील्ड में एक बढिय़ा जॉब भी पाना जरूरी

मौजूदा दौर में शिक्षा का दायरा एकदम अलग रूप ले चुका है। ऐसे में युवाओं की रोजगार की पसंद भी काफी बदल चुकी है। एक तो सरकारी नौकरियां घट रही हैं, दूसरा युवाओं का मोह भी अब भंग हो रहा है। युवाओं का सपना अब कोई प्रोफेशनल कोर्स करके निजी क्षेत्र में अपने करियर को नए शिखर तक ले जाना हो गया है, जहां पैसा भी ज्यादा है और शोहरत भी…

युवाओं को यह ध्यान में रखना चाहिए कि प्रोफेशनल कोर्स में दाखिला लेना ही काफी नहीं है, बल्कि कोर्स खत्म करने के बाद अपनी फील्ड में एक बढिय़ा जॉब भी पाना जरूरी है। आइए जानते हैं कि प्रोफेशनल कोर्स करते समय हमें किन बातों का अनिवार्य रूप से ध्यान रखना चाहिए।
अपना लक्ष्य तय करें

आजकल एक ही प्रोफेशनल कोर्स में कई विंग होती हैं और सबमें अलग-अलग जॉब ऑप्शन होते हैं। मसलन अगर आप मॉस कम्युनिकेशन में दाखिला ले रहे हैं तो आपके पास प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, एड एजेंसी, पब्लिक रिलेशन एजेंसी, रेडियो, एनजीओ या वेब मीडिया में जॉब मिलने का चांस रहता है। इसलिए जरूरी है कि आप अपनी क्षमताओं और फैकल्टी से बातचीत के आधार पर अपनी विंग को चुनें।
यह गलती कतई न करें

कई बार प्रोफेशनल कोर्स में देखा जाता है कि स्टूडेंट किसी एक विंग को न चुनते हुए सभी तरफ हाथ-पैर मारने की कोशिश करता रहता है, यह बिल्कुल गलत है। इससे आप अपना ही नुकसान करते हैं। यह जरूरी नहीं है कि आपके ग्रुप के सभी सदस्यों की क्षमताएं व दिलचस्पी एक सी हों। इसलिए जरूरी है कि अपनी क्षमता को ध्यान में रखते हुए ही अपने पसंदीदा विंग का सही समय पर चुनाव कर लें।

प्रैक्टिकल भी जरूरी

प्रोफेशनल कोर्स की पढ़ाई रेगुलर पढ़ाई की तुलना में कुछ अलग होती है। इसलिए जरूरी है कि आप थ्योरी के साथ-साथ प्रैक्टिकल नॉलेज पर भी ध्यान दें। आप चाहें तो इसके लिए अपनी फैकल्टी या फिर गेस्ट फैकल्टी से राय ले सकते हैं। अगर आपकी छवि एक गंभीर स्टूडेंट की बनी तो संभव है कि आपको प्रैक्टिकल नॉलेज के लिए फैकल्टी ही किसी संस्थान में प्रैक्टिकल नॉलेज हासिल करने का मौका दिलवा दे।

सोच-समझकर चुनें कोर्स

आज सरकारी एवं निजी विश्वविद्यालयों में बहुतायत की संख्या में प्रोफेशनल कोर्स उपलब्ध हैं। ऐसे में सही कोर्स का चुनाव करते समय कन्फ्यूज होना स्वाभाविक है। चुनाव करते समय इस बात का ध्यान रखें कि आप जिस कोर्स का चुनाव कर रहे हैं, उस क्षेत्र का भविष्य कैसा है? हो सके तो संबंधित कोर्स के सीनियरों से बातचीत कर जानें कि कोर्स के बाद उन्हें किस तरह की जॉब मिली? और क्या वे संतुष्ट हैं? इसके अलावा आप चाहें तो इंटरनेट का भी सहारा ले सकते हैं। इंटरनेट पर आसानी से आपको अपने पसंदीदा कोर्स की भविष्य की संभावनाओं के बारे में पता चल जाएगा। इसके बाद ही आप कोर्स का चयन करें।

असाइनमेंट को लें गंभीरता से

प्रोफेशनल कोर्स में अकसर स्टूडेंट असाइनमेंट को गंभीरता से नहीं लेते। इस आदत से बचें। याद रखें कि आज किया गया यही काम कल आपके लिए मददगार होगा। इसलिए असाइनमेंट को गंभीरता से लें और उसे समय से पूरा करें। आप चाहें असाइनमेंट के बारे में अपने सीनियर स्टूडेंट से सहायता भी ले सकते हैं।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams