News Flash
edu pace institute

उम्दा कोचिंग से अभिभावकों की बन रहा पहली पसंद

पीजी कॉलेज ऊना के सामने स्थित निजी शिक्षण संस्थान एडू पेस ने बेहतर शिक्षा के बलबूते पर कुछ ही वर्षों में जिला सहित प्रदेश भर में अपनी अलग पहचान बनाई है। बड़े शहरों में होने वाली कोचिंग को लेकर जिला व प्रदेश के बच्चों को दूर न भटकना पड़े, इसी लक्ष्य को लेकर आगे बढ़ रहा संस्थान बच्चों के भविष्य को संवार रहा है।

एडू पेस आज जिला के युवक-युवतियों की ही नहीं, बल्कि पड़ोसी राज्यों का भी पसंदीदा संस्थान बन गया है। एडू पेस में समय की मांग के अनुसार कंपीटेटिव कक्षाएं चलाई जाती हैं, जिनके तहत बच्चे अनेक प्रकार के होने वाले एग्जाम्स की तैयारी करते हैं। ऐसे में अभिभावक भी एडू पेस की विश्वसनीयता से संतुष्ट हैं…

* उम्दा कोचिंग से अभिभावकों की बन रहा पहली पसंद
* बेहतरीन शिक्षकों के बल पर 250 पहुंचा बच्चों का आंकड़ा
* बड़े शहरों से बेहतर कोचिंग मिल रही सस्ते में

एमडी अभिनव ने बताया कि संस्थान में दिव्यांगों व जरूरतमंद बच्चों को विशेष छूट दी जाती है। उन्होंने बताया कि जो बच्चा किसी एग्जाम की तैयारी करना चाहता है और आर्थिक तंगी के कारण शिक्षा से वंचित है, तो ऐसे बच्चों को संस्थान में विशेष छूट है। इतना ही नहीं ज्यादा गरीब बच्चों को निशुल्क तैयारी भी करवाई जाती है।

वर्ष 2011 में 25 बच्चों से शुरू हुए संस्थान में अब 250 से अधिक बच्चे कोचिंग ले रहे हैं। एमडी अभिनव धीमान ने बताया कि मान्यता प्राप्त संस्थान में अलग-अलग विषय पर कंपीटेटिव कक्षाएं लगाई जाती हैं। उन्होंने बताया कि नॉन मेडिकल स्टूडेंट्स आईआईटी-जेईई व एनडीए की तैयारी कर सकते हैं। इसके अलावा मेडिकल के स्टूडेंट्स एआईआईएमएस, नीट व नर्सिंग की तैयारी करते हैं। वहीं नॉन मेडिकल व मेडिकल के बच्चे एग्रीकल्चर, पीयू सेट, एचपी सेट जैसे एग्जाम की तैयारी करते हैं।

अभिनव ने बताया कि अब तक हजारों बच्चों ने संस्थान से एग्जाम की न केवल तैयारी की है, बल्कि बेहतर परिणाम भी हासिल किया है। बेहतर परिणाम के चलते युवा वर्ग काफी रुचि दिखा रहा है। ऑनलाइन एग्जाम की बेहतर व्यवस्थाऊना-नंगल रोड़ पर स्थित एडू पेस संस्थान में दो कंप्यूटर लैब हैं। जहां 40 से अधिक परीक्षार्थी एक समय में ऑनलाइन एग्जाम दे सकते हैं। इसके साथ ही परीक्षा में पारदर्शिता बनाए रखने के लिए संस्थान में सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं। इसके अलावा बायोमीट्रिक मशीन भी लगाई गई है।

कुल मिलाकर कहा जाए तो एडू पेस में ऑनलाइन एग्जाम की बेहतर व्यवस्था है।
बेहतर स्टाफ के साथ ट्रांसपोर्ट की सुविधा एडू पेस संस्थान में बेहतर स्टाफ के साथ-साथ ट्रांसपोर्ट की भी सुविधा है। संस्थान मेें कुल 10 क्लासरूम हैं और आईआईटी के साथ डॉक्टर का स्टॉफ बच्चों के भविष्य सुधारने में अहम भूमिका निभा रहा है। बच्चों को घर से लाने व छोडऩे के लिए एक बस के अलावा चार कैब की व्यवस्था है।

होस्टल की सुविधा

संस्थान में जिला से ही नहीं, बल्कि अन्य जिलों व साथ लगते राज्यों से भी बच्चे शिक्षा लेने आते हैं। बच्चों को रहने के लिए कोई दिक्कत न हो, इसके लिए एडू पेस द्वारा होस्टल की भी व्यवस्था की गई है। संस्थान से कुछ दूरी पर ही होस्टल है, जहां पर बच्चे रहते हैं। मौजूदा समय में बाहरी जिलों से करीब एक दर्जन से अधिक बच्चे हैं।

पिता का मिला पूरा सहयोग

रक्कड़ कॉलोनी में रहने वाले अभिनव धीमान का जन्म 28 अगस्त 1986 को सतीश कुमार धीमान व सुनीता धीमान के घर हुआ। अभिनव ने बीएससी मेडिकल व एमबीए की शिक्षा ग्रहण की हुई है। शिक्षा के दौरान कंपीटेटिव जैसे एग्जाम के लिए बड़े शहरों में जाना पड़ता था। ऐसे में अभिनव ने निर्णय लिया कि जिला के बच्चों को विभिन्न परीक्षाओं की तैयारी करने के लिए जिला से बाहर न जाना पड़े, इसके लिए ऊना में संस्थान खोला जाएगा।

इसी सोच को लेकर आगे बढ़े अभिनव सफलता की ऊंचाइयां छू रहे हैं। अभिनव ने बताया कि खुद अकेले यह सब संभव नहीं था। इसके लिए पिता सतीश कुमार धीमान का पूरा सहयोग मिला है। अभिनव ने बताया कि पिता के सहयोग से ही सबकुछ संभव हो पाया है।

जेई मेन्स के बैच शुरू

अभिनव ने बताया कि एडू पेस संस्थान में जेई मेन्स के बैच शुरू होने वाले हैं। इसका एग्जाम 6 से 20 अप्रैल सीबीटी के तहत होगा। इसके अलावा नीट के एग्जाम पांच मई को होने हैं, जिसके बैच जमा दो की परीक्षाओं के बाद शुरू होंगे।

-चंद्रमोहन चौहान, ऊना

जानकारी के लिए संपर्क

संस्थान में प्रवेश पाने के लिए अधिक जानकारी 94598-00801, 02, 03 पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा संस्थान में आकर कार्यालय में भी संपर्क कर सकते हैं।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams


[recaptcha]