News Flash
coaching course

परीक्षाओं में सफलता प्राप्त करने के लिए कोचिंग महत्वपूर्ण मानी जा रही है…

एक समय था, जब विद्यार्थी प्राय: अपने बलबूते पर स्कूल में अच्छे अंक प्राप्त कर लेने में समक्ष थे, लेकिन आज की बढ़ती स्पर्धा के परिवेश में कोचिंग इंस्टीट्यूट्स का सहारा लेना अनिवार्य समझा जा रहा है। आईआईटी-जेईई या एआईईईई तथा पीएमटी या कैट, मैट, जीमैट प्रवेश परीक्षाओं में सफलता प्राप्त करने के लिए कोचिंग महत्वपूर्ण मानी जा रही है…

कोचिंग इंस्टीटय़ूट्स में सिलेबस के सिलसिलेवार रिवीजन तथा अधिकतम फायदा प्राप्त करवाने के लिए स्टडी पैटर्न इस प्रकार व्यवस्थित किए जाते हैं कि विद्यार्थियों का सही मार्गदर्शन हो सके। यहां छात्रों को कठोर परीक्षाओं के दौर से गुजरना पड़ता है। प्रत्येक बच्चे पर व्यक्तिगत ध्यान दिया जाता है। इसके अलावा सही मार्गदर्शन तथा दुविधा को दूर करने के लिए शिक्षकों की टीम भी रहती है।

आत्म-अध्ययन की पूर्णता इसके पूरक पर निर्भर होती है

सिर्फ कोचिंग में दाखिला लेना ही सफलता की सीढ़ी नहीं है। इसके और भी पहलू हैं, जो समान रूप से महत्वपूर्ण हैं, जैसे आत्म-अध्ययन यानी सेल्फ स्टडी। ये दोनों एक-दूसरे के पूरक हैं। जब तक विद्यार्थी आत्म-अध्ययन को सुचारू रूप से नहीं अपनाते, तब तक उन्हें कोचिंग के शिक्षकों के मार्गदर्शन का पूरा फायदा नहीं मिल पाता।

आत्म-अध्ययन की पूर्णता इसके पूरक पर निर्भर होती है, यानी इसके साथ-साथ सही मार्गदर्शन भी आवश्यक है। अगली क्लास से पहले कोचिंग में पढ़ाए गए विषयों को दोहराना तथा उनमें पाई गई मुश्किलों से निपटना बच्चों के लिए बहुत जरूरी है। इससे वे अगले विषय के लिए तैयार हो सकेंगे।

विद्यार्थी जितना अधिक समय घर पर दे पाता है, वह उतना ही अच्छा कर पाता है। उसके परीक्षा के परिणाम तथा रैंक इसके गवाह हैं। अच्छे परिणाम के लिए जरूरी है कि वह अपने अध्यापक से आत्म-अध्ययन की रूटीन के बारे में वार्ता करे। आप कभी भी यह विश्वास न पालें कि कोचिंग इंस्टीट्यूट में दाखिला लेना ही सफलता के लिए प्रयाप्त है। यह सफलता की पहली सीढ़ी है, जो आत्म-अध्ययन के बिना अधूरी है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams