News Flash

शिक्षा विभाग ने एससीईआरटी सोलन को पाठ्यक्रम तैयार करने के निर्देश दिए , पांचवीं से बारहवीं कक्षा के छात्रों के लिए तैयार होगा पाठ्यक्रम

हिमाचल दस्तक : भूपेंद्र ठाकुर। सोलन : सरकारी स्कूलों में शिक्षा ग्रहण कर रहे पांचवीं से बारहवीं कक्षा तक के छात्रों को नशे से दूर रहने का पाठ पढ़ाया जाएगा। प्रदेश शिक्षा विभाग ने नशे के प्रति जागरुकता का पाठ्यक्रम तैयार किए जाने के लिए राज्य प्रशिक्षण एवं शिक्षण शोध परिषद (एससीईआरटी) सोलन को निर्देश जारी किए हैं। संभावना जताई जा रही है कि एक अप्रैल, 2019 से शुरू होने वाले शैक्षिक सत्र में इस सिलेबस को पढ़ाई में शामिल किया जा सकता है।

जानकारी के अनुसार हिमाचल प्रदेश मेें नशीले पदार्थों को पकड़े जाने के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। नशे की गिरफ्त में सबसे अधिक स्कूली छात्र आ रहे हैं। जागरुकता न होने की वजह से छात्र इस नशे की दलदल में फंस चुके हैं। सबसे बड़ी चिंता की बात यह है कि छात्र सबसे ज्यादा सफेद चिट्टे का नशा कर रहे हैं। इस नशे के सेवन के बाद चार से पांच साल में छात्र मौत के करीब पहुंच जाते हैं। सफेद चिट्टे की सप्लाई के दर्जनों मामले अब तक सामने आ चुके हैं। इसी प्रकार छात्र जीवनरक्षक दवाइयों का प्रयोग भी नशे के रूप में कर रहे हैं। बीते दिनों शिमला मेें पुलिस मॉनिटरिंग कमेटी की बैठक डीजीपी की अध्यक्षता में की गई थी।

इस दौरान छात्रों द्वारा प्रयोग किए जा रहे नशे पर चिंता व्यक्त की गई। अब शिक्षा विभाग ने निर्णय लिया है कि पांचवीं से बारहवीं कक्षा तक के सभी छात्रों को नशे के प्रति जागरूक किया जाएगा। इसलिए एससीईआरटी द्वारा को इस बारे में पाठ्यक्रम तैयार किए जाने के निर्देश जारी किए गए हैं। बताया जा रहा है कि प्रत्येक कक्षा के लिए अलग से सिलेबस तैयार किया जाएगा। इसमें ऐसे तमाम पहलुओं को शामिल किया जा रहा है, जिसकी वजह से नशा युवाओं को अपनी गिरफ्त में ले रहा है।

नशे से दूर कैसे रहा जा सकता है तथा कौन-कौन सा नशा शरीर को क्या नुकसान पहुंचा रहा है, इन सबके बारे में चित्र सहित छात्रों को समझाने का प्रयास किया जाएगा। इसके आलावा प्रत्येक सरकारी स्कूलों में छात्रों कीकांउसलिंग भी की जाएगी। विशेष रूप से जो छात्र किसी भी प्रकार का नशा कर रहे हैं उन्हें शिक्षकों की निगरानी में रखा जाएगा और कांउसलिंग के माध्यम से नशे दूर करने का भी प्रयास होगा। यह पाठ्यक्रम हिंदी व अंगे्रजी दोनों की माध्यम में होगा। एससीईआरटी सोलन की प्रधानाचार्य नम्रता टिकू का कहना है नशे से दूर रहने के लिए जल्द ही सिलेबस तैयार किया जा रहा है। इस पाठ्यक्रम को तैयार किए जाने के बाद प्रदेश शिक्षा विभाग को भेज दिया जाएगा।

शतरंज व संगीत का पाठ्यक्रम तैयार

छात्रों को नशे से दूर रखने के लिए एससीईआरटी द्वारा शतरंज व संगीत का पाठ्यक्रम तैयार करके प्रदेश शिक्षा विभाग को भेज दिया है। अगले शैक्षिक सत्र से इसे सरकारी स्कूलों में पढ़ाया जा सकता है।

 

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams