News Flash

मेरी आवाज को दबाना किसी के वश में नहीं

हिमाचल दस्तक। बड़सर : लोकसभा चुनाव-2019 के लिए प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह बड़सर में अपनी हुंकार भर गए। इशारों ही इशारों में वे भाजपा सांसद अनुराग ठाकुर व पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल को भी ललकार गए।

उन्होंने तल्ख लहजे में कहा कि उनकी आवाज को दबाना किसी के वश में नहीं है। आने वाले लोकसभा चुनाव इसके परिचायक होंगे। पूर्व सीएम ने कहा कि पूर्व विधानसभा चुनाव में जनता द्वारा धूमल परिवार के खिलाफ ट्रायल शुरू किया है, आने वाले लोकसभा चुनाव में यह ट्रायल पूरा हो जाएगा। जनता की अदालत ने पिता को सजा दे दी है और अब बेटे की बारी है। वीरभद्र ने कहा कि धूमल जब-जब प्रदेश के मुख्यमंत्री बने हैं, तब-तब उन्होंने मुझ पर सेशन ट्रायल चलाए हैं। इनमें वे दो बार बरी हुए हैं। ऐसे में मैं चाहता तो धूमल पर 4 बार केस बना देता, लेकिन मैंने कभी बदले की राजनीति नहीं की है।

मैं 6 बार प्रदेश का मुख्यमंत्री व 6 बार ही सांसद रहा हूं। ऐसे में कई बार मेरी आवाज को दबाने का प्रयास हुआ है, लेकिन किसी को भी सफलता हासिल नहीं हुई है। उन्हांने कहा कि मेरे लिए पूरा प्रदेश एक है भाजपा का प्रदेश के विकास में शून्य रहा है। शिक्षा के क्षेत्र आज हिमाचल यदि आगे बढ़ा है तो वह कांग्रेस की देन रही है, वहीं भाजपा की सरकार हमेशा शिक्षा विरोधी रही है। आज भी प्रदेश की भाजपा सरकार स्कूलों व कॉलेजों को बंद करने पर आमदा है।

बड़सर विधानसभा क्षेत्र के बारे बोलते हुए उन्होंने कहा कि बड़सर के विकास में कांग्रेस का अहम योगदान रहा है। इस मौके पर नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री, सुजानपुर विधायक राजेंद्र राणा, स्थानीय विधायक आईडी लखनपाल, पूर्व विधायक कश्मीर सिंह, बंबर ठाकुर, राजेंद्र जार, कर्नल लगवाल व बड़सर कांग्रेस प्रभारी रामचंद पठानिया सहित कई कांग्रेस पार्टी के पदाधिकारी व सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

जब तक जिंदा हूं, सक्रिय राजनीति में रहूंगा

झंडूत्ता। पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि जबतक कांग्रेस के कार्यकर्ता आपस में एकजुट होकर पार्टी के हित में कार्य नहीं करेंगे हम लोग जीत हासिल नहीं कर सकते हैं। उन्होंने झंडूत्ता में कांग्रेस कार्यताओं को एकजुटता का पाठ पढ़ाया। वीरभद्र सिंह ने कहा कि विधानसभा चुनावों में एकजुट होकर कार्य किया होता तो आज डॉ. बीरू राम किशोर यहां के विधायक होते। उन्होंने कहा कि आने वाले लोकसभा चुनावों में यह सब सहन नहीं किया जाएगा।

पूर्व सीएम ने कहा कि पूर्व कांग्रेस सरकार ने अपने कार्यकाल में झंडूत्ता में एसडीएम कार्यलय के साथ डिग्री कॉलेज पुलिस थाना सहित कई स्कूल खोले हंै। बबखाल पुल का निर्माण कार्य भी कांग्रेस ने ही शुरू किया था, जो शीघ्र ही बन कर तैयार हो जाएगा। उन्होंने मंच पर ही आपसी तालमेल न बैठाने वालों को नसीहत देते हुए कहा कि जब घर पर ही एकता नहीं बनेगी तो कांगेस पार्टी मजबूत नहीं बन सकती है। राजनीति के अनुभव का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि मैंने 25 साल की उम्र में पहला लोकसभा चुनाव लड़ा था।

उन्होंने विरोधियों को सचेत करते हुए कहा कि जब तक मैं जिंदा रहूंगा, तब तक सक्रिय राजनीति में रहूंगा। इस दौरान मुकेश अग्निहोत्री, डॉ. बीरू राम किशोर, विवेक कुमार, अभिषेक राणा, ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष ओम प्रकाश चंदेल ने भी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया।

 झंडूत्ता में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पढ़ाया एकजुटता का पाठ

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams