News Flash
Treatment free

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री नड्डा ने गृह राज्य से किया आयुष्मान भारत अभियान का आगाज

आरपी नेगी। शिमला : प्रधानमंत्री राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन यानी आयुष्मान भारत अभियान का आगाज केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने अपने गृह राज्य हिमाचल से सोमवार को किया।

शिमला में ही पड़ोस के पांच राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश के साथ नेशनल हेल्थ एजेंसी के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। मोदी सरकार ने इस वर्ष के बजट में आयुष्मान भारत अभियान शुरू करने की घोषणा की थी। सोमवार को शिमला में हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, जेएंडके, उत्तराखंड और केंद्र शासित राज्य चंडीगढ़ के साथ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने एमओयू हस्ताक्षर किए। आयुष्मान भारत मिशन के तहत पूरे देश में 50 करोड़ लोगों को 5 लाख रुपये प्रति व्यक्ति प्रति वर्ष निशुल्क इलाज होगा। इसमें हिमाचल प्रदेश के 15.31 लाख लोगों को कवर करने का लक्ष्य रखा गया है।

यह स्वास्थ्य बीमा कैशलेस और पेपर लेस होगा। योजना को सिरे चढऩे में थोड़ा सा वक्त लगेगा। हिमाचल को केंद्र सरकार 90:10 का रेशो प्रदान करेगी। यानी योजना में 10 प्रतिशत बजट राज्य सरकार खर्च करेगी, जबकि 90 फीसदी बजट केंद्र सरकार व्यय करेगी। पहले चरण में राष्ट्रीयकृत बीमा कंपनी या किसी ट्रस्ट के साथ एग्रीमेंट होगा। इसके लिए टेंडर प्रक्रिया से चयन होगा। इसमें सरकारी के अलावा निजी अस्पतालों में भी स्वास्थ्य सुविधा की व्यवस्था की जाएगी। प्राइवेट अस्पतालों को राज्य सरकार अपने स्तर पर इंपैनल करेगी।

पूरे देश में चलेगा हेल्थ कार्ड

प्रधानमंत्री राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन योजना के तहत किसी भी राज्य का मरीज किसी दूसरे राज्य में अपना इलाज करवा सकेगा। हालांकि प्रधानमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना, यूनिवर्सल हेल्थ स्कीम के तहत संबंधित राज्य के मरीजों का इलाज उसी राज्य के अस्पतालों में होता है, लेकिन आयुष्मान भारत योजना में पूरे देश में कहीं भी स्वास्थ्य बीमा का लाभ लिया जा सकेगा। हिमाचल का व्यक्ति यदि दिल्ली में जाकर बीमार हो जाता है तो वह दिल्ली के किसी भी सरकारी अस्पताल या सरकार द्वारा इम्पैनल निजी अस्पताल में इलाज करवा सकेगा। ये निशुल्क होगा।

हेल्थ बीमा कवर भी अब ऑनलाइन मिलेगा

आयुष्मान भारत योजना को शुरू करने के लिए राज्य सरकार को किसी बीम कंपनी या किसी ट्रस्ट के साथ एग्रीमेंट करना होगा। इसके साथ-साथ आईटी प्लेटफार्म तैयार करना होगा, ताकि स्वास्थ्य बीमा कवर ऑनलाइन ही मिले और कोई कागजी औपचारिकता न हो। योजना के तहत लाभार्थियों का चयन 2011 में हुए जाति आधारित सर्वे के तहत होगा। इसमें वर्तमान में आरएसबीवाई और अन्य बीमा योजनाओं के लाभार्थी भी शामिल हो सकते हैं।

“प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में आयुष्मान भारत अभियान शुरू करने का निर्णय लिया है, जिससे देश के 50 करोड़ लोगों को स्वास्थ्य बीमा लाभ दिया जाएगा। हर साल एक व्यक्ति को 5 लाख तक का इलाज निशुल्क होगा। गाइडलाइंस बन रही हैं। जुलाई से योजना लागू हो जाएगी।” 
-जेपी नड्डा, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams