लोगों में मची अफरा-तफरी

हिमाचल दस्तक। कुल्लू : मनाली उपमंडल के सोलंगनाला के अंजली महादेव नाले में सोमवार सुबह बादल फटने से बाढ़ आ गई। बाढ़ से ब्यास नदी पर बना गोशाल गांव के लिए बना अस्थाई पुल बह गया है।

गौरतलब है कि सोमवार सुबह 3 बजे जब बाढ़ आई तो लोग सो रहे थे। नदी की ओर से आई जोर की आवाज से लोग उठ गए। बाढ़ के कारण नाले में आए पत्थर और मलबे से कोठी, पलचान, रुआड़ और कुलंग गांव के घर हिल गए। जिससे लोग में अफरा-तफरी मच गई। ग्रामीणों ने फोन के माध्यम से एक-दूसरे का हाल पूछा, लेकिन रात होने के कारण पता नहीं चल पा रहा था कि किस नदी या नाले में बाढ़ आई है। अंजनी महादेव नाले में आई बाढ़ से गोशाल का अस्थाई पुल बह गया तथा सोलंग के लिए सोलंग नदी में बन रहे बीआरओ के पुल को हल्का सा नुकसान पहुंचा है। वहीं, बाढ़ से बरुआ गांव की तरफ  वाली कुछ जमीन भी बह गई है और सेना के ट्रांजिट कैंप पलचान की सड़क को भी कुछ नुकसान हुआ है।
ट्रांजिट कैंप का जल स्रोत भी बाढ़ की भेंट चढ़ गया है। वहीं, बादल फटने से आईपीएच विभाग की पानी की योजना को भी नुकसान पहुंचा है। पानी की पाइपें और मोटर बह गई हैं। हालांकि इस हादसे में जानमाल को कोई नुकसान नहीं हुआ है, लेकिन लाखों की सरकारी संपत्ति बरबाद हुई है। पलचान पंचायत के प्रधान सुंदर ठाकुर ने बताया कि अंजनी महादेव नाले में सोमवार तीन बजे बाढ़ आ गई जिससे लोग सहम उठे। गोशाल गांव के ग्रामीण मेहर चंद ठाकुर ने बताया कि उनका अस्थाई पुल बह गया है, जिससे उनकी दिक्कतें बढ़ गई गया। उन्होंने बताया कि अहिल्या नदी पर भी पानी बढ़ गया है जिससे वाहन आर-पार नहीं हो रहे है।
मनाली एसडीएम रमन घरसंगी ने बताया कि बाढ़ में आए मलबे से बीआरओ के पुल को नुकसान पहुंचा है। राजस्व विभाग की टीम नुकसान का आंकलन करने को घटनास्थल रवाना हो गई है। उन्होंने बताया कि लगातार हो रही बारिश से ब्यास नदी सहित नाले उफान पर है। नदी किनारे रह रहे लोगों को सचेत कर दिया गया है। प्रशासन हालात पर नजर रखे हुए है।
खराब मौसम को देखते हुए प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है। खराब मौसम के चलते नदी-नाले उफान पर है लोग नदी नालों के नजदीक न जाएं। 
यूनुस उपायुक्त कुल्लू। 
गीता कुल्लू

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams