Baba Vishwakarma temple's flag raja pay

धार्मिक समागम का दूसरा दिन, हिमाचल, पंजाब व अन्य राज्यों से श्रद्धालुओं ने नवाया शीश

सुलिंद्र सिंह, संतोषगढ़।  ऊना विधानसभा क्षेत्र में पड़ते नप संतोषगढ़ के बाबा विश्वकर्मा मंदिर में 70वां सलाना धार्मिक कार्यक्रम के दूसरे दिन सुबह झंडा रस्म अदा की गई। उसके बाद मंदिर में आए कथा वाचिक   व संगीतकारों ने बाबा विश्वकर्मा की महिमा का गुणगान किय । स्टेज सेक्रेटरी भजन सिंह मान ने बताया कि धार्मिक कार्यक्रम लगातार 70 वर्ष से चल रहा है।

बाबा विश्वकर्मा मंदिर में माथा टेकने के लिए भक्तों की लाइनें सुबह से ही लगनी शुरू हो गई।  इस मंदिर में व कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए हिमाचल, पंजाब व अन्य राज्यों से बाबा विश्वकर्मा मंदिर में माथा टेकने के लिए आते हैं। इस धार्मिक कार्यक्रम में सर्व समाज के लोग शामिल होते है। तीन दिवसीय इस धार्मिक कार्यक्रम में  लगातार लंगर का प्रसाद भी लगाया जाता है। कार्यक्रम में प्रसिद्ध कथा वाचक एवं संगीतकार पूज्य देवी रेनू वृंदावन धाम, पंडित बाबू लाल बृजवासी एमएबीएड, मिंटू एंड पार्टी कलाकार कुमार सोनू, बाल कलाकार मास्टर चांद एवं मिस अमन प्रीत कौर आनंदपुर साहिब, सीमा गौतम टीवी कलाकार बिलासपुर, भगत गुरदेव सिंह एंड पार्टी धलेट बिलासपुर व राज रतन एंड पार्टी बसदेहड़ा ने विशेष प्रस्तुति दी।
इस मौके पर विश्वकर्मा मंदिर कमेटी संतोषगढ़ के प्रधान बलदेव सिंह, सचिव जीत सिंह मान, विशन सिंह मान, मोहिंद्र सिंह, मस्तान सिंह, रविंद्र सिंह, गुरवचन सिंह, प्रीतम सिंह, बलबीर सिंह, गुरमुख सिंह, जसवंत सिंह, परविंद्र सिंह, यशपाल सिंह, तारा सिंह, जीत सिंह, जसविंद्र सिंह, हरविंद्र सिंह सहित अन्य मौजूद रहे।

जिला भर में हुआ विश्वकर्मा का पूजन

जिला भर में वीरवार को भगवान विश्वकर्मा का पूजन किया गया। शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित विश्वकर्मा मंदिरों में पूजन के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। वहीं कई दुकानदारों ने भी अपने प्रतिष्ठानों में भगवान विश्वकर्मा का पूजन करने के बाद बाजारों में प्रसाद बांटा और दुकानें बंद रखी। वहीं डंगोली, जलग्रां, नारी, अरनियाला, ट्रक यूनियन ऊना और अन्य स्थानों पर श्रद्धालुओं ने हवन यज्ञ में आहुतियां डाली। हिमोत्कर्ष संयुक्ता चौधरी महिला बहुतकनीकी संस्थान ऊना में विश्वकर्मा दिवस श्रद्धापूर्ण मनाया गया। संस्थान के बच्चों ने अपनी-अपनी कला की मशीनों, औजारों की साफ-सफाई की और धूपवत्ती करके पूजा अर्चना की।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams