News Flash

बकरास के ग्रामीणों ने खोला मोर्चा, केस री-ओपन करने की उठाई मांग , वर्ष 2006 का है मामला टिपर माटला में जंगल से काटे गए हैं बान के 1000 पेड़ , आरोपियों पर दायर मामला तक ले लिया गया है वापस

हिमाचल दस्तक : सचिन ओबरॉय। पांवटा साहिब : उपमंडल शिलाई क्षेत्र के बकरास में रविवार को ग्राम सभा पंचायत प्रधान श्याम कलाम चौहान की अध्यक्षता में संपन्न हुई। ग्राम सभा में कट रहे और काटे गए हजारों की संख्या में बान के पेड़ों को लेकर चर्चा की गई।

लोगों ने पेड़ पर चल रही कुल्हाड़ी को रोकने के लिए विभाग से ठोस कदम उठाने की मांग की है। इस क्षेत्र में बड़ी मात्रा में काटे गए बान के पेड़ों के बावजूद वन विभाग द्वारा कार्रवाई न करना तथा आरोपियों के खिलाफ दायर मुकदमे को भी विभाग द्वारा वापस लेने का एक सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। लगभग 1000 से ज्यादा पेड़ों के काटे जाने वाले आरोपी द्वारा अपना अपराध स्वीकार किए जाने के बाद भी वन विभाग की कार्यप्रणाली पर अंगुली उठने लगी है।

वन मंडल रेणुका के शिलाई रेंज में पुराना सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। शिलाई वन विभाग के तहत आने वाले टिपर माटला में एक जंगल में एक ग्रामीण ने बगीचा लगाने के उद्देश्य से बान के 1000 से ज्यादा पेड़ काट डाले। मामला दिसंबर, 2006 का है। मामला न्यायालय में चल रहा था कि 26 अक्तूबर, 2007 को तत्कालीन परिक्षेत्र अधिकारी ने न्याय को अर्जी देकर मुकदमा वापस ले लिया जबकि आरोपी ने अपने बयान में पेड़ों के काटने की बात कबूल की है।

मामला न्यायालय में बंद होने के बाद पुन: ग्रामीणों ने शिकायत तत्कालीन डीएफओ रेणुका से 7 अप्रैल, 2010 को पत्र संख्या 123 जिला एंटोनी सिरमौर को पत्र लिख कर मामले को री-ओपन करने की मांग की। जब कोई कार्रवाई नहीं हुई तो पत्र संख्या 537 दिनांक 5-5-2010 को मामले में कार्रवाई के लिए पत्र लिखा गया लेकिन आज तक मामले में जांच न हुई और न ही मामला री-ओपन हुआ। क्षेत्रवासी 12 साल से कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

“मामला जल्द ही री-ओपन हो रहा है। इतनी बड़ी तादाद में बान के पेड़ काटना संवेदनशील है। इस मामले के लिए तहसील शिलाई को डिमार्केशन करने के लिए पत्र भेज दिया है। जैसे ही तहसील शिलाई की ओर से डिमार्केशन होती है, वैसे ही मामले को अंजाम तक पहुंचाया जाएगा।”
              –सुशील राणा, डीएफओ, रेणुका

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams