Nagrota police station

10 दिन के अंदर नहीं हुई कार्रवाई तो होगा आंदोलन , पत्रकार वार्ता में लगाएं जबरन मारपीट के आरोप, कहां एस एच ओ साहब कहते हैं मैं हूं नगरोटा का सिंघम

चंदन महाशा।कांगड़ा : नगरोटा विधान सभा के कुछ लोगों ने थाना प्रभारी नगरोटा बगँवा के ऊपर ग भीर आरोप लगाये है।

सोमवार को  अजय सपहिया पंचायत प्रधान गौड़वा, वरेन्द्र सपहिया, दीपक ठाकुर, सचिन, ओम प्रकाश देश राज, पूर्व उपप्रधान गौडवा पवन ठाकुर, दीपक परमार वार्ड पंच पंचायत मसल, सुमित राणा, अशोक कुमार, राजकुमार, अशीष पठानिया, राकेश कुमार मंत, विकास, अभिषेक नवीन वहल व अशोक कुमार ने कांगड़ा में एक सयुक्त पत्रकार वार्ता में थाना प्रभारी नगरोटा बगंवा के ऊपर आरोप लगाते हुए कहा कि  नगरोटा की जनता उनके तानाशाही रवैयिये से तंग आ चुकी है। उन्होंने कहा कि एस एच ओ कहते है कि मैं नगरोटा सिंगम हूँ और आये दिन लोगों से बदसलूकी करते रहते है।कहा 9 जून को सांय लगभग साढ़े छह बजे हटवास गांव में एक दुकान के पीछे बैठकर थ्री
ब्हीलर खरीदने की पार्टी मना रहे एसएचओ ने पकड़कर पुलिस थाना में ले जाकर जमकर पिटाई की। उनके शरीर में निशान पड़े हैं। इस बारे उन्होने सोमवार को एसपी संतोष पटियाल से भी धर्मशाला कार्यालय में लिखित शिकायत कर एसएचओ विरूद्ध कार्रबाई की मांग की है। उन्होने आरोप लगाया कि पुलिस मुकद्धमा दर्ज कर सकती है लेकिन एसएचओ ने युवाओं की निर्मम पिटाई कर कानून हाथ में लिया है और उन्हे सजा मिलनी ही चाहिए। पंचायत उपप्रधान पवन ठाकुर ने कहा कि एसएचओ अब इन युवाओं को उनके विरूद्ध झूठे मुकद्धमें दर्ज करने के नाम पर डरा धमका रहा हैं। जिससे क्षेत्र में भय व दहशत का माहौल बना हुआ है। उन्होने कहा क्षेत्र में पुलिस के सरंक्षण में नशा माफिया धड़ल्ले से फल फूल रहा है।
उन्होंने कहा कि थाना प्रभारी भी आ धमकें तथा उनसे मारपीट करने लगे तथा हमें गाडी में बिठा कर पुलिस स्टेशन ले गये तथा थाने में भी उनसे मारपीट की। उन्होंने थाना प्रभारी पर पैसे मांगने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि इसकी शिकायत उन्होंने एसपी कांगड़ा संतोष पटियाल से भी लिखित में की है। उन्होंने सरकार से गुहार लगाई है कि ऐसे थोना प्रभारी से नगरोटा को मुक्ति दिलाई जाए। उन्होंने कहा कि नगरोटा बगवां थाना प्रभारी के खिलाफ 10 दिन के अंदर कार्रवाई नहीं की गई तो धरना प्रदर्शन किया जाएगा।
इस संबध में जब थाना प्रभारी सुरेन्द्र ठाकुर से बात की तो उन्होंने बताया कि ऐसा कुछ भी नही हुआ तथा किसी भी शराब पिते हुए  नही उठाया गया है। उन्हें लगातार यहां पर भंग पिने की शिकायत मिल रही थी तो उस पर कार्रवाई करते हुए उन्होंने छापामारी की तथा 7 लोगों पर भंग पिने की धारा 27 के तहत मामला दर्ज कर के कार्रवाई शुरू कर दी है तथा पुलिस ने किसी को नही मारा तथा इनके ब्लड सैंपल लेकर जाँच के लिए भेज दिया है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams