News Flash
Gopal Das Verma

मुख्यमंत्री को झूठी रिपोर्ट को गुमराह कर रहे अधिकारी , छह माह बाद भी सरकार ने नहीं ली सुध

हिमाचल दस्तक ब्यूरो: बिलासपुर : हिप्र सर्व कर्मचारी, पैंशनर्ज, श्रमिक, युवा, बेरोजगार संयुक्त मोर्चा के अध्यक्ष गोपाल दास वर्मा नेे कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर राज्य सचिवालय में तैनात पूर्व कांग्रेस सरकार के एजेंट रहे उच्चाधिकारियों को हटाएं।

क्योंकि यह आज भी सचिवालय में आज भी महत्वपूर्ण पदों पर आसीन होकर मुख्यमंत्री को गुमराह कर रहे हैं। ऐसे अधिकारियों को तुरंत प्रभाव से हटाया जाना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि आज भी यह अधिकारी पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के निवास स्थान पर जाकर निर्देश कर रहे हैं। यह अधिकारी झूठी रिपोर्ट कर गुमराह कर रहे हैं। वह वीरवार को यहां पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि पूर्व कांग्रेस सरकार के समय में भी इन्हीं लोगों ने पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के दिशा निर्देशों पर कर्मचारी नेताओं का उत्पीडऩ किया। अब भी यही उच्चाधिकारी अब झूठी रिपोर्टस प्रस्तुत कर मु यमंत्री जय राम ठाकुर को भी गुमराह कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि पर्यटन निगम में कर्मचारी नेता ओपी गोयल ने अपने विभाग में जब घोटालों को उजागर किया तो उस समय पूर्व मंत्री जीएस बाली और सरकार ने उन्हें नौकरी से बाहर का रास्ता दिखा दिया। उन्होंने कहा कि विस चुनावों से पूर्व भाजपा के दिग्गज नेताओं ने घोषणा की थी कि जिन कर्मचारी नेताओं का कांग्रेस सरकार द्वारा उत्पीडऩ किया गया है उन्हें बहाल किया जाएगा। लेकिन छह महीने बीत जाने के बावजूद सरकार ने इन कर्मचारी नेताओं की कोई सुध नहीं ली जो कि हैरानी का विषय है।

मुख्यमंत्री को चाहिए कि वे उनके पास झूठी रिपोर्ट पेश करने वाले अधिकारियों को बर्खास्त किया जाए। वर्मा ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने सत्ता संभालते ही तीन आईएएस अधिकारियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया था जिससे अफसरशाही में हड़कंप मच गया था। सीएम जय राम ठाकुर को भी ऐसे कड़े कदम उठाने होंगे। वर्मा ने कहा कि सीएम को गुमराह होने से बचने के लिए सरकार के खाुफिया तंत्र का प्रयोग करना चाहिए ताकि उन्हें वास्तविकता का पता चल सके।

अनूप शर्मा

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams