News Flash
Complaints of wrong publicity on social media

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। ऊना : ऊना में प्रतिष्ठित परिवार व व्यापारिक प्रतिष्ठान चलाने वाली समाज सेविका दीपिका वशिष्ट की शिकायत पर ऊना थाना में पुलिस ने 4 लोगों के विरुद्ध विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

दीपिका विशिष्ट ने पुलिस शिकायत में बताया कि किस प्रकार से सोशल मीडिया व एक वेबसाइट की खबर पत्रिका पर तथ्यों को तोड़-मरोड़ कर गलत समाचार लगाकर उनकी प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचाई जा रही है और पूरी तरह से झूठ फैलाया जा रहा है। इससे उनके मान-सम्मान को भी ठेस लगी है। उन्होंने कहा कि ऐसी खबरों को लगाने व प्रसारित करने का मकसद व्यक्तिगत लाभ लेने व अनुचित दबाव डालने का प्रयास ही रहा है। दीपिका ने पुलिस को दी शिकायत में रक्कड़ कॉलोनी में बनाए जा रहे क्लब व द पुष्पाजंली हाउसिंग सोसायटी सहित ऊना के होटल को लेकर भी जानकारियां दी हैं कि सभी प्रशासनिक अनुमतियों से नियमों के तहत बनाए गए हैं।

बकायदा सरकारी विभागों से अनुमति ली गई है और कहीं भी कोई भी न तो अवैध निर्माण हो रहा है, न ही कोई गलत काम किया जा रहा है। बावजूद इसके बेवसाइट की खबर पत्रिका में और सोशल मीडिया पर जान-बूझकर बदनाम करने के लिए इन खबरों को डालकर गलत प्रचार कर मानसिक प्रताडऩा देने का काम किया जा रहा है। दीपिका विशिष्ट ने अपनी शिकायत में हिंद घोष टाइम ई न्यूज पेपर के पवन ठाकुर, ललित ठाकुर, विजय ठाकुर व एमडी भूपेंद्र मेहरा के विरुद्ध यह शिकायत सौंपी है। इस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने चारों के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 500, 509 व 67 के तहत मामला दर्ज किया है। दीपिका विशिष्ट ने कहा कि चारों ने गलत आरोप लगाया है कि द पुष्पांजलि को-ऑपरेटिव हाउसिंग बिल्डिंग सोसायटी ने करोड़ों का लोन लिया है।

इस आरोप में कोई सच्चाई नहीं है, यह केवल बदनाम करने की साजिश है। इसको लेकर एफिडेविट भी अपनी शिकायत के साथ दिया है। उन्होंने कहा कि ऊना में जो होटल बना है, उसकी सभी मंजिलें पास हैं और नगर परिषद द्वारा इसका नक्शा पास किया गया है। ऐसे में यह भी गलत आरोप लगाया गया है कि केवल दो मंजिले पास है, जबकि पूरा होटल पास है और विभाग से भी पूरी अनुमति ली हुई है। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार की अनियमितता नहीं की गई है, ऐसे में इस न्यूज पेपर में गलत तथ्य प्रस्तुत कर परेशान करने का काम किया गया है। उन्होंने कहा कि जिलाधीश ऊना को 3 शिकायतें दी गई थी, इनमें से दो शिकायतों को वापस लिया गया है, उसकी प्रतियां भी साथ पुलिस शिकायत में दी गई हैं।

उन्होंने कहा कि हर विभाग का अनापत्ति पत्र लिया गया है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से बड़ा घोटाला व मामले दर्ज जैसे शब्दो के साथ खबर को सनसनी बनाकर प्रसारित किया गया है, इस पर कार्रवाई होनी चाहिए और न्याय मिलना चाहिए। पुलिस ने शिकायत का अध्ययन करने के बाद चारों के विरुद्ध विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर आगामी जांच शुरू कर दी है, ऐसे में शिकायतकर्ता ने न्याय की उम्मीद जताई है और कहा कि झूठ का पर्दाफाश होगा और समाज को गुमराह करने वाले लोगों के चेहरे नंगे होंगे। उन्होंने कहा कि किस
कि मान्यता से इस प्रकार के ई न्यूज पेपर चल चल रहे है, इसकी भी अलग से जांच होनी चाहिए
कि क्या यह सरकार से मान्यता प्राप्त है या नहीं।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams