News Flash
District Legal Services Authority

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। धर्मशाला : ग्राम पंचायत वीरता की ग्राम पंचायत वीरता की आंगनबाड़ी में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया ।

इस दौरान जिला विधिक सेवा प्राधिकरण कांगड़ा स्थित धर्मशाला की सचिव एवं वरिष्ठ न्यायाधीश नेहा धहिया ने उपस्थित लोगों को विभिन्न अधिकारों के बारे में विस्तार से महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की । उन्होंने इस दौरान विधिक सेवा प्रधिकरण की ओर से संचालित विभिन्न प्रकार की योजनाओं के बारे में भी जानकारी दी । उन्होंने कहा कि मानव अधिकारों की सुरक्षा हेतु कानूनी तौर पर भी जहां निशुल्क कानूनी सहायता प्रदान की जाती है, वहीं वित्तीय सहायता भी प्रदान की जाती है । उन्होंने उपस्थित लोगों को बताया कि विधिक सेवा अधिनिम 1987 के अनुसार आर्थिक दृष्टि से गरीब, पिछड़े और कमजोर वर्ग, अनुसूचित जाति व जनजाति के लाग, महिलाएं, असहाय लोग, बच्चे आदि निशुल्क कानूनी सहायता प्राप्त कर सकते हैं ।
उन्होंने बताया कि ऐसे व्यक्ति जिनकी वार्षिक आय एक लाख रुपये से कम हो और वरिष्ठ नागरिक जिनकी आयु 60 वर्ष से अधिक हो, विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से निशुल्क कानूनी सहायता प्राप्त हो सकती है । मानसिक रोगी या विकलांग, अनापेक्षित अभाव जैसे बहुविनाषश, जाति हिंसा, जातीय अत्याचार, बाढ़, सूखा, भूकंप या औद्योगिक संकट के शिकार व्यक्तियों को भी यह सहायता प्रदान की जाती है ।
उन्होंने बताया कि निशुल्क कानूनी सहायता के अंतर्गत सरकारी खर्च पर वकील उपलब्ध करवाना, न्याय शुल्क, टाईपिंग और याचिकाओं तथा दस्तावेजों को तैयार करने पर होने वाला खर्च, गवाहों को बुलाने पर होने वाला खर्च, मुकद्दमों से संबंधित अन्य खर्च आदि के अलावा किसी भी मुकदमे में निशुल्क कानूनी सलाह भी प्रदान की जाती है । उन्होंने बताया कि उपमंडल स्तर से लेकर उच्चतम न्यायालय स्तर तक यह सहायता प्रदान की जाती हैं, परंतु जानकारी के अभाव के कारण अभी तक बहुत सारे लोग यह सहायता प्राप्त नहीं कर पा रहे हैं ।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams