News Flash

 बारिश-बर्फबारी न होने से भी पैदा हुआ पेयजल संकट

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। चंबा : मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि सूबे में पानी की कमी नहीं, महज आवंटन में थोड़ी दिक्कत होने से ही यह समस्या पेश आई। अब उसे भी करीब-करीब दुरुस्त कर दिया गया है।

मुख्यमंत्री ने यह बात जिला मुख्यालय पर आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान कही। उन्होंने कहा कि पानी की समस्या को लेकर कुछ लोग आंदोलन की चेतावनी दे रहे हैं।  मुझे ऐसे लोगों से कोई दिक्कत नहीं है, लोकतंत्र है इसलिए वे आंदोलन कर सकते हैं। लेकिन सवाल यह है कि जब राज्य सरकार इस समस्या को खत्म करने के लिए दिन-रात मेहनत कर रही है तो उन्हें भी थोड़ा सब्र करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सही मायने में पूर्व में समय-समय पर बारिश और बर्फबारी न होने के कारण ही पेयजल संकट गहराया है। पेयजल के इस संकट से उबरने के लिए राज्य सरकार अपनी ओर से पूरी मेहनत कर रही है।

डिप्टी रेंजर अशोक के निधन पर जताया दुख

मुख्यंमत्री ने डिप्टी रेंजर अशोक कुमार के निधन की दुर्भाग्यपूर्ण घटना पर दुख व्यक्त किया और डिप्टी रेंजर के परिजनों को चार लाख रुपये देने की घोषणा के अतिरिक्त घायलों के निशुल्क चिकित्सा उपचार की घोषणा भी की।

शिक्षा-स्वास्थ्य क्षेत्र में जल्द दूर होगी स्टाफ की कमी
एजुकेशन और हेल्थ सिस्टम का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इन दोनों संस्थानों में स्टाफ की कमी है। इस कमी को जल्द से जल्द से पूरा किया जाएगा। उन्होंने पूर्व सरकार के कार्यकाल का जिक्र करते हुए कहा कि पूर्व की सरकार से उनकी सरकार को कर्ज का भारी बोझ मिला है। इससे उबरने में वक्त लगेगा। उन्होंने कहा कि पूर्व सरकार ने सिर्फ राजनीतिक रोटियां सेंकने के लिए ही नए-नए संस्थान खोल रखे हैं, जबकि पहले से खुले संस्थान स्टाफ की कमी से जूझ रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार सर्वप्रथम स्टाफ की कमी को पूरा करेगी। तत्पश्चात आवश्यकतानुसार ही नए संस्थान खोलने की योजना पर काम करेगी। इस मौके पर कांगड़ा चंबा के सांसद शांता कुमार, खाद्य आपूर्ति मंत्री किशन कपूर, भाजपा के जिलाध्यक्ष डीएस ठाकुर, विधायक पवन नैय्यर, विक्रम जरयाल और जियालाल कपूर, जिला भाजपा के वरिष्ठ उपाध्यक्ष जसवीर नागपाल भी मौजूद रहे।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams