Gandhi Chowk can get to know anybody's bare wire of electricity

हादसों को न्यौता दे रही बिजली बोर्ड एवं नगर परिषद हमीरपुर की लापरवाही, फ्यूज बॉक्स में तार नंगे होने से पोल में आ सकता है करंट, दुर्घटना का अंदेशा

सुभाष चंद। हमीरपुर : भले ही अधिकांश विभाग अपनी सेवाओं का आधुनिकीकरण कर रहे हैं, परंतु कई अहम विभाग अभी भी पुराने ढर्रे पर ही चल रहे हैं। हमीरपुर में नगर परिषद एवं विद्युत बोर्ड की बिजली की सप्लाई के तार शहर में हादसों को न्यौता दे रहे हैं ।

हमीरपुर शहर के गांधी चौक पर नगर परिषद के स्ट्रीट लाइट के पोल पर लोहे से बना फ्यूज बॉक्स लगाया गया है। बॉक्स में बिजली के नंगे तार को जोड़कर फ्यूज का काम चलाया जा रहा है। ऐसे में कभी भी बड़ी दुर्घटना घट सकती है। वहीं, अगर लोहे से बने फ्यूज बॉक्स में करंट आता है तो इस पोल में हाथ लगने से कोई भी इसकी चपेट में आ सकता है। यह पोल शहर के मुख्य गांधी चौक पर लगा हुआ है, जहां रोजाना सैकड़ों लोग रोजमर्रा के काम के लिए आते हैं।

इनमें से कोई भी हादसे का शिकार हो सकता है। नगर परिषद हमीरपुर का यह जुगाड़ कोई एक जगह नहीं है, बल्कि हर दूसरे पोल पर देखने का मिल जाता है। यही नहीं शहर में बिजली विभाग के ऐसे पोल भी हैं, जहां चार-पांच फुट की ऊंचाई पर ही नंगे तार देखे जा सकते हैं। इन सब मामलों को देख कर ऐसा लग रहा है कि विभाग किसी बड़ी घटना का इंतजार कर रहा है

“गांधी चौक पर यदि कोई ऐसा बॉक्स है तो उसे बदलवाया जाएगा, वहीं नंगे तारों पर टेप लगवाई जाएगी, ताकि कोई बड़ी दुर्घटना न हो।” 
-सतीश कुमार, कार्यकारी अधिकारी, नगर परिषद हमीरपुर

शहर की सुंदरता को ग्रहण लगा रहा तारों  का मकडज़ाल

शहर में तारों का मकडज़ाल होने के कारण हमीरपुर शहर के गांधी चौक की सुंदरता को भी ग्रहण लग रहा है। इन तारों के मकडज़ाल से कई बार स्पार्किंग होती है, जिससे आग लगने की घटनाएं होने का भी अंदेशा रहता है। बता दें कि शहर में विद्युत सप्लाई लाइन को कई बार भूमिगत करने की योजना भी तैयार की गई, लेकिन शहर को तारों के मकडज़ाल से आजतक छुटकारा नहीं मिल पाया है।

क्या कहना है विभागीय अधिकारियों का

इस बारे में जब हमीरपुर नंबर-1 के एसडीओ राकेश वर्मा से बात की तो उन्होंने बताया कि अगर कहीं पर कोई बॉक्स खुला है तो जेई को मौके पर भेजकर उसे बंद करवाया जाएगा।

विद्युत विभाग के एक्सईएन केके भारद्वाज का कहना है कि विभाग ने तो हर बॉक्स को ठीक करवा दिया है। अगर फिर भी ऐसा है तो ठीक करवा दिया जाएगा और अगर किसी अन्य जगह होंगे तो सभी एसडीओ को दिशा-निर्देश दिए जाएंगे कि खुले बॉक्स या तार हंै तो उन्हें तुरंत बदला जाए।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams