News Flash

चंद्रमोहन चौहान, ऊना।  क्षेत्रीय अस्पताल में व्यवस्थाओं को पटरी पर लाने के लिए सरकार ठोस कार्रवाई करे, ताकि रोगियों को बेहतर सुविधाएं मिल सके। यह मांग ऊना जनहित मोर्चा के अध्यक्ष राजीव भनोट ने प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार, राज्य भाजपा अध्यक्ष सतापल सत्ती व सांसद अनुराग से की है।

भनोट ने कहा कि क्षेत्रीय अस्पताल में यदि सुविधाओं को इजाफा न किया गया तो यह महज नाम का अस्पताल बनकर रह जाएगा। उन्होंने कहा कि अस्पताल में व्यवस्थाओं को सुधारने के लिए एक ज्ञापन स्वास्थ्य मंत्री को दिया गया था, जिसको कार्रवाई के लिए स्वास्थ्य सचिव को भेजा गया है। इसकी जानकारी पत्र द्वारा स्वास्थ्य विभाग ने मोर्चे को दी है। उन्होंने कहा कि वर्तमान हालात अधिक खराब हो रहे हैं। चिकित्सक पूरे नहीं है स्टाफ की कमी है। सुविधाओं का टोटा है। पर्ची बनाने के लिए घंटो लाइन में लगना पड़ता है।
शौचालयों की रिपेयर का काम पूरा नहीं हुआ है। जो चिकित्सक हैं उन पर काम का दबाब अधिक बढ़ा है। ऐसे में सरकार को नए स्वास्थ्य संस्थान खोलने के स्थान पर जिला स्तर के अस्पताल को सुविधाओं को आदर्श बनाने की ओर ध्यान देना चाहिए। रोगियों व तामीरदारों को बेहतर सुविधाएं मिले इसके लिए अभी भी कमी महसूस की जा रही है। कई उपकरण जो रोगियों के लिए जरुरी है। वर्षों से खराब पड़े हैं उन्हें ठीक नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हम कई वर्षीं से मांग कर रहे हैं कि रोगियों  के तामीरदारों के लिए अस्पताल में एक सराय का निर्माण किया जाए, लेकिन इस और कोई ध्यान नहीं दिया गया।
इसे जिला प्रशासन के माध्यम से मां चिंतपूर्णी ट्रस्ट द्वारा पूरा किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री हाल ही में अस्पताल का दौरा करके गए थे, बावजूद इसके कमियां दूर नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि मदर चाइल्ड केयर सेंटर का निर्माण शुरू नहीं हुआ है। पीजीआई सैंटेलाइट सेंटर की ओपीडी शुरू नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि इसके लिए गंभीर प्रयास किएजाने चाहिए। उन्होंने कहा पहले भी जनहित मोर्चा अन्य सामाजिक संगठनों के साथ मिलकर रोष प्रदर्शन कर चुका है और भविष्य में गुरेज नहीं किया जाएगा।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams