News Flash
Karnataka: Floor Test to decide today's future

कुमारस्वामी 2 बार नकार चुके हैं बहुमत साबित करने की डेडलाइन

बेंगलुरु : सोमवार को कर्नाटक विधानसभा में फ्लोर टेस्ट होना है, जो कुमारस्वामी सरकार का भविष्य तय करेगा। भाजपा नेता येदियुरप्पा ने आरोप लगाया कि राज्य सरकार बेवजह बहुमत परीक्षण की तारीख को आगे बढ़ाती जा रही है, जबकि वह जानती है कि उसके द्वारा अपने विधायकों को जारी किए गए व्हिप का कोई मतलब नहीं है।

फ्लोर टेस्ट से पहले रविवार को कांग्रेस और भाजपा की विधायक दल की बैठक हुई। मुख्यमंत्री कुमारस्वामी के विश्वास मत प्रस्ताव पर वीरवार और शुक्रवार को चर्चा हो चुकी है। रविवार को मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने कांग्रेस-जेडीएस विधायकों के साथ ताज होटल में बैठक की। इससे पहले बहुमत साबित करने के लिए कुमारस्वामी राज्यपाल से मिली दो डेडलाइन को नजरअंदाज कर चुके हैं। राज्यपाल वजुभाई वाला ने कुमारस्वामी को बहुमत साबित करने के लिए शुक्रवार दोपहर 1.30 बजे और फिर शाम 6 बजे तक की डेडलाइन दी थी।

लेकिन मुख्यमंत्री ने इस दिन विश्वास मत साबित नहीं किया। कुमारस्वामी ने शुक्रवार को कहा था कि मेरे मन में राज्यपाल के लिए सम्मान है, लेकिन उनके दूसरे प्रेम पत्र ने मुझे आहत किया। मैं फ्लोर टेस्ट का फैसला स्पीकर पर छोड़ता हूं। मैं दिल्ली द्वारा निर्देशित नहीं हो सकता। मैं स्पीकर से अपील करता हूं कि राज्यपाल की ओर से भेजे गए पत्र से मेरी रक्षा करें। कुमारस्वामी सरकार बचाने की भरसक कोशिश कर रहे हैं। वहीं रविवार को कांग्रेस और भाजपा दोनों ने बैठकें कर आगामी रणनीति बनाई।

माया भाजपा के साथ?
बसपा विधायक फ्लोर टेस्ट में नहीं होगा शामिल
बेंगलुरु। कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार सोमवार को बहुमत साबित करेगी। राज्य के बसपा के इकलौते विधायक एन महेश फ्लोर टेस्ट में शामिल नहीं होंगे। रविवार को महेश ने कहा कि पार्टी सुप्रीमो मायावती ने उन्हें इसके लिए निर्देश दिया है। विश्वास मत प्रस्ताव पर बहस के दौरान भी बसपा विधायक सदन में गैर हाजिर थे। इसके बाद कुछ रिपोट्र्स में कहा गया था कि मायावती ने अपने विधायक को गठबंधन सरकार के साथ जाने के लिए कहा था। कुमारस्वामी के विश्वास मत प्रस्ताव पर वीरवार और शुक्रवार को चर्चा हो चुकी है।

कुमारस्वामी सरकार का आज आखिरी दिन : येदियुरप्पा

बेंगलुरु। कर्नाटक बीजेपी चीफ और पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने पूरी उम्मीद जताई है कि राज्य की कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार के दिन पूरे हो चुके हैं और सोमवार को उनकी सरकार का आखिरी दिन होगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सिद्धारमैया, मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी और स्पीकर ने कहा है कि वे सोमवार को बहुमत सिद्ध करेंगे, ऐसे में मुझे पूरा भरोसा है कि चीजें एक नतीजे पर पहुंचेंगी।

मुझे भरोसा है कि सोमवार का दिन कुमारस्वामी सरकार का आखिरी दिन होगा। येदियुरप्पा राज्य में पैदा हुए राजनीतिक संकट की ओर इशारा कर रहे थे। हाल के दिनों में एक के बाद एक विधायकों और मंत्रियों के इस्तीफे से संकट में आई कुमारस्वामी सरकार को बचाने में राज्य के कांग्रेस और जेडीएस नेता पूरी ताकत झोंक रहे हैं। हालांकि दो निर्दलीय विधायकों ने जहां इस्तीफे का प्रस्ताव वापस ले लिया है, वहीं कांग्रेस के विधायक श्रीमंत पाटिल के अचानक गायब होने और बाद में मुंबई के अस्पताल में भर्ती होने की खबर ने सरकार पर संकट खड़ा कर दिया है।

येदियुरप्पा ने सोमवार को जारी सुप्रीम कोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में साफ कहा है कि मुंबई में ठहरे हुए 15 विधायकों को सदन की कार्यवाही में भाग लेने के लिए बाध्य ना किया जाए। यह उन पर छोड़ दिया जाए कि वे सदन की कार्यवाही में भाग लेना चाहते हैं या नहीं। उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति में व्हिप की कोई वैल्यू नहीं रह जाती है और यह सत्ता पक्ष को भी अच्छे से जानता है। येदियुरप्पा ने कहा कि गवर्नर ने मुख्यमंत्री कुमारस्वामी को स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि सरकार अल्पमत में होने के चलते वह कोई महत्वपूर्ण निर्णय ना लें। हालांकि मुख्यमंत्री ने उनकी राय को भी अनसुना कर दिया है और लगातार महत्वपूर्ण निर्णय ले रहे हैं।

This is Rising!

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams