KCC Bank Recruitment Examination

स्कूल शिक्षा बोर्ड से हुई भर्ती को कैबिनेट ने संदेहास्पद माना, रजिस्ट्रार को भर्ती रद करने की प्रक्रिया पूरी करने के निर्देश , कांग्रेस सरकार में 216 पदों पर हुई थी भर्ती, रिजल्ट आना था

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला : पूर्व कांगे्रस सरकार के आखिरी साल में कांगड़ा केंद्रीय सहकारी बैंक में हुई भर्ती परीक्षा को रद करने के निर्देश दिए गए हैं। कैबिनेट में इस मसले पर अनौपचारिक चर्चा हुई। इसमें अतिरिक्त मुख्य सचिव सहकारिता और रजिस्ट्रार सहकारी सभाएं दोनों का मत था कि चल रही जांच के बीच इस भर्ती को क्लीयर करना सही नहीं होगा।

कैबिनेट ने इस मत से सहमति जताई है। इसके बाद रजिस्ट्रार को भर्ती रद करने की प्रक्रिया पूरी करने को कहा गया है। आरसीएस इस बारे में अब ऑर्डर जारी करेंगे। करीब 216 पदों के लिए यह परीक्षा पूर्व कांग्रेस सरकार के समय 8 और 9 जुलाई, 2017 को हुई थी। पेपर स्कूल शिक्षा बोर्ड ने लिया था। लिखित परीक्षा का रिजल्ट घोषित हो गया था, लेकिन इंटरव्यू एवं इवेल्यूवेशन की प्रक्रिया अभी पूरी नहीं हुई थी। इसी बीच पहले पूर्व चेयरमैन रसील सिंह मनकोटिया की शिकायत और फिर अचानक चुनाव आचार संहिता लगने के कारण प्रक्रिया पूरी नहीं हो पाई थी।

फीस लौटाने पर आरसीएस लेंगे फैसला

केसीसी बैंक में करीब 200 से ज्यादा पदों के लिए हुई इस परीक्षा में सहायक प्रबंधक, कंप्यूटर प्रोग्रामर, क्लर्क और सेके्रटरी कोटे के कर्मचारियों के पद थे। परीक्षा में 20 हजार से ज्यादा परीक्षार्थी बैठे थे। इन्हें परीक्षा शुल्क लौटाने पर अब आरसीएस फैसला लेंगे।

पिछली भर्तियों का जला दिया है रिकॉर्ड

इससे पहले स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा की गई केसीसी बैंक की भर्तियों की जांच के आदेश हो चुके हैं। विजिलेंस ने इन परीक्षाओं का रिकॉर्ड बोर्ड से मांगा था, लेकिन बताया गया कि इसे जलाया जा चुका है। इसी तथ्य को देखते हुए अब यह परीक्षा रद की जा रही है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams