News Flash

पार्टी कोर गु्रप में चर्चा के बाद दिल्ली भेजे चारों सीटों के नाम, जब मोदी के नाम पर चुनाव तो प्रत्याशी बदलने पर जोर नहीं

सतीश शर्मा। बीबीएन : भाजपा कोर गु्रप की दो दिनों तक चली मैराथन बैठक में प्रदेश की चारों लोकसभा सीटों पर वर्तमान प्रत्याशियों को टिकट देने पर सहमति हो गई है। हालांकि भाजपा के शीर्ष नेता इस बात को खुलकर बोलने से कतरा रहे हैं, लेकिन पुख्ता सूत्र बताते हैं कि चारों प्रत्याशियों के नाम फाइनल करके केंद्र को भेज दिए गए हैं।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सत्ती और मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने जनसभा में इसके संकेत भी दिए। बता दें कि भाजपा कोर कमेटी की बैठक सोमवार को सायं करीब साढ़े छह बजे आरंभ हुई थी और मंगलवार करीब साढ़े तीन बजे तक चलती रही। इस बैठक में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, पूर्व मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल, भाजपा प्रभारी मंगल पांडेय, प्रदेश चुनाव प्रभारी तीरथ सिंह रावत, संगठन महामंत्री पवन राणा, सांसद शांता कुमार, वीरेंद्र कश्यप, अनुराग ठाकुर, रामस्वरूप शर्मा मौजूद रहे।

संसदीय बूथ पालक डॉ. राजीव सहजल, विपिन सिंह परमार, गोविंद ठाकुर व वीरेंद्र कंवर, डॉ. राजीव बिंदल, रणधीर शर्मा, कृपाल परमार, चंद्रमोहन ठाकुर और राम सिंह ने भी बैठक में शिरकत की। माना जा रहा था कि इस बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा भी मंगलवार को पहुंचेंगे, लेकिन वह शामिल नहीं हो पाए। कोर कमेटी की बैठक के बाद एसटी मोर्चा के सम्मेलन में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती और मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इस बात के संकेत भी दिए।

उन्होंने कहा कि शिमला लोकसभा सीट पर वीरेंद्र कश्यप तीसरी बार जीत दर्ज कर प्रधानमंत्री के हाथ मजबूत करेंगे। इससे स्पष्ट है कि यदि शिमला की सीट पर कश्यप ही चुनाव लड़ते हैं तो बाकी सभी पुराने सांसद ही चुनाव लड़ेंगे, क्योंकि सबसे बड़ा पेंच शिमला सीट पर ही अड़ा था और कई दावेदार अपनी दावेदारी जताते बद्दी भी पहुंचे हुए थे। चारों सांसदों के चेहरों पर दिख रही प्रसन्नता से भी अंदाजा लगाया जा रहा था कि उन सभी के नाम दोबारा प्रस्तावित हुए हैं। यह दीगर है कि आने वाले दिनों में टिकटों के आबंटन में कोई विरोध या बड़ा उल्टफेर न हो।

केंद्रीय संसदीय बोर्ड करेगा नाम फाइनल: सत्ती

बैठक के बाद संक्षिप्त प्रेस ब्रीफिंग में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतपाल सत्ती ने कहा कि इस दौरान संगठन को ग्रास रूट तक मजबूत बनाने और इन लोकसभा चुनावों के दौरान बड़े नेताओं की रैलियों व संगठन के सभी अग्रणी प्रकोष्ठों को जिम्मेदारियों इत्यादि के बारे में चर्चा हुई। उन्होंने कहा कि चारों लोकसभा सीटों पर प्रत्याशियों का चयन केंद्रीय संसदीय बोर्ड ही करेगा, लेकिन पुख्ता सूत्रों के अनुसार चारों संसदीय क्षेत्रों में सीटिंग एमपी को दोबारा टिकट देने पर सहमति बन गई है और चारों नाम केंद्रीय संसदीय बोर्ड को भी भेज दिए गए हैं।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams