News Flash

धरोहर के सामान को निलाम कर सरकार क्या होगी मालामाल 

बबीता शर्मा। नाहन : कभी तीन हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार देने वाली जिला सिरमौर की सबसे बडी़ धरोहर नाहन फांउड्री के कीमती सामान को कबाड़ समझकर बेचें जाने की श्रृंखला में दुसरी लिस्ट भी लगभग तैयार हो रही है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यह भी पता चला है कि नाहन फांउड्री में इतना ज्यादा बेश कीमती मशीनरी व लोहे का सामान पडा़ है। जिसकी लिस्ट बनाने में छ: महीनें से भी ज्यादा का समय लग सकता है। स्थानीय लोगों के भारी विरोध के बावजूद प्रदेश सरकार नाहन फाउंड्री के बचे-खुचे अस्तिव को भी निलाम कर मिटाने जा रही है। अब यदि नाहन फाउंड्री में रखी तमाम मशनरी व लोहे का सामान यदि कबाड़ के भाव कबाडिय़ों को कोडियों के दाम बेच दिया जाता है तो भविष्य में नाहन फाउंड्री का अस्तिव पूरी तरह से मिट जाएगा। जबकि शहर के प्रबुद् लोगों व बुद्धिजीवी का यह भी मशवरा है। कि भले ही नाहन फाउंड्री को नीलाम कर दिया जाए मगर इसमें रखी कुछ ऐसी मशनरी को बतौर स्मारक जिला के प्रमुख स्थलों पर स्थापित किया जाना चाहिए जो कि पर्यटन के नज़रिये से भी महत्वपूर्ण होगा।

हैरानी तो इस बात की है कि लोक निर्माण विभाग के इंजीनियर जिस लोहे के सामान को कबाड़ कहकर सरकार को गुमराह कर रहे है । उस कथित कबाड़ में क ई ऐसी ऐतिहासिक बहुमूल्य मशीनरी है। जिनकी उमर सौ वर्ष से भी ज्यादा हो चुकी है। जोकि हेरिटेज श्रेणी में आ चुकी है । सबसे हैरान करने वाली बात यह है कि सरकार व विभाग के द्वारा यह तमाम नीलामी की प्रक्रिया बड़े ही गुपचुप तरीकें से की जा रही है । लोक निर्माण विभाग के कर्मचारी मीडिया को जानकारी देनें में भी हिचक रहे है। नाहन फाउंड्री से कई ऐसी महत्वपूर्ण कीमती मशीनरियां पहले ही गायब अथवा बेच दी गई है। इसको लेकर भी विभाग जानकारी देनें में अक्षम है। मौजूदा समय जिस कर्मचारी को नाहन फाउंड्री के दस्तावेजों व देखरेख का चार्ज दिया गया है। उनके पास इतने ज्यादा कोर्ट केस है कि वह नाहन फाउंड्री के दस्तावेजों और अन्य सामान की जानकारी के बारें में भी बता पाने में असमर्थ है।

बरहाल लोक निर्माण विभाग के मेकैनिक इंजीनियर व इनके साथ सहयोग करने वाले कुछ जूनियर इंजीनियर है जो नाहन फाउंड्री में अगली नीलामी किये जाने वाले सामान की लिस्ट तो बना रहे मगर वे जिस मशीनरी को कंडम कह रहे है । उन मशाीनों की तकनीकी जानकारी किस स्तर पर लें रहे है । इस पर भी संसय बना हुआ है। देखना यह भी होगा कि जहां पहली लिस्ट के अनुसार जो नीलामी की गई है वह तो आठ लाख के आसपास में बिका है ,बाकी बचे सामान को बेचकर सरकार कितनी अमीर हो जाएगी यह देखना बाकी है।

लोक विभाग निर्माण के एस डी ओ पी डब्लयू डी मेकैनिकल मनिष साहनी का कहना है कि जिला सिरमौर के नाहन फाउंड्री में बहुत सारी मशीनें है जिसमें सारी मशीनें खराब है। जो लोहे का सामान पडा है उसकी लिस्ट बनाई जा रही है लिस्ट में क्या-क्या सामान है उसकी जानकारी नही दी जा सकती है। फाउडी में इतना ज्यादा सामान है कि पूरी लिस्ट बनाने में छ: महीनें लग जाएगें ।

बबीता शर्मा। नाहन

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams