पाक अदालत ने करोड़ का जुर्माना भी लगाया, बेटी-दामाद को भी जाना होगा जेल , भाई शहबाज का ऐलान, लड़ेंगे न्याय की लड़ाई

एजेंसी। इस्लामाबाद : पाकिस्तान की एक अदालत ने सत्ता से बेदखल कर दिए गए पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को भ्रष्टाचार के मामले में शुक्रवार को 10 साल के कारावास की सजा सुनाई है। नवाज की बेटी मरियम को भी 7 साल की सजा सुनाई गई है।

कोर्ट ने नवाज पर 80 लाख पाउंड (करीब 73 करोड़ रुपये) और मरियम पर 20 लाख पाउंड (18.2 करोड़ रुपये) का जुर्माना भी लगाया है। कोर्ट के जज मोहम्मद बशीर ने नवाज के दामाद कैप्टन (रिटायर) सफदर को एक साल की सजा सुनाई है। उल्लेखनीय है कि नवाज ने वीरवार को अपनी पत्नी कुलसुम नवाज की सेहत का हवाला देते हुए मामले पर फैसला सात दिन बाद सुनाने की अपील की थी। जज ने शरीफ की अपील की खारिज करते हुए एवनफील्ड भ्रष्टाचार केस पर सजा का ऐलान किया। नवाज और उनकी बेटी फिलहाल लंदन में हैं, जहां कुलसुम नवाज के कैंसर का इलाज चल रहा है।

कोर्ट के फैसले के बाद नवाज शरीफ के भाई शहबाज शरीफ ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि हम लोग सभी कानूनी और संवैधानिक विकल्पों के जरिए न्याय की लड़ाई लड़ेंगे। नवाज शरीफ ने हमेशा बहादुरी से लड़ाई लड़ी है। साथ ही उन्होंने कहा कि पीएमएलएन के हमारे सभी उम्मदीवार अपने चुनाव प्रचार में हमारे साथ किए गए अन्याय का मुद्दा जोर-शोर से उठाएंगे।

संभावना जताई जा रही है कि नवाज कोर्ट के फैसले के खिलाफ अपील करेंगे। पंजाब का शेर कहे जाने वाले नवाज शरीफ रिकॉर्ड तीन बार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बने, लेकिन हर बार किसी न किसी वजह से कार्यकाल पूरा नहीं कर पाए। कभी राष्ट्रपति कायार्लय के जरिए, फिर सेना और अब न्यायापालिका द्वारा उनको सत्ता से बेदखल किया गया।

यह था पूरा मामला

मामला लंदन के एवनफील्ड स्थित 4 फ्लैट से जुड़ा है। नवाज ने ये फ्लैट 1993 में खरीदे थे। नेशनल अकाउंटेबिलिटी ब्यूरो (एनएबी) का आरोप था कि ये फ्लैट भ्रष्टाचार के पैसों से खरीदे गए हैं। कोर्ट ने नवाज को दोषी मानते हुए सजा सुनाई और कहा कि ब्रिटेन की सरकार इन फ्लैट को जब्त करे।

दामाद व बेटी मरियम का राजनीतिक करियर डूबा

जुलाई, 2017 में पाकिस्तान की सुप्रीमकोर्ट ने पनामा पेपर लीक मामले में नवाज शरीफ को भ्रष्टाचार का दोषी माना था। उनके चुनाव लडऩे पर आजीवन रोक लगा दी थी। इसके बाद उन्हें प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था। अब बेटी मरियम के चुनाव लडऩे पर चुनाव आयोग ने पाबंदी लगा दी है। आयोग ने कहा कि मरियम का नाम बैलट पेपर से भी हटा दिया जाएगा। उनके पति सफदर भी चुनाव नहीं लड़ पाएंगे। पाकिस्तान में नेशनल असेंबली की 342 में से 272 सीटों पर 25 जुलाई को चुनाव हैं।

 

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams