News Flash

पूर्व सरकार की एक और योजना को झटका , कॉलेज के होनहार छात्रों को दिए जाएंगे लैपटॉप

दीपिका शर्मा। शिमला  : इस बार स्कूलों में मेधावी बच्चों को शायद लैपटॉप नहीं दिए मिल पाएंगे। प्रदेश सरकार ने एक बार फिर से पूर्व कांग्रेस सरकार की एक और योजना को समेट दिया है। इसमें राजीव गांधी लैपटॉप योजना को बंद करने की बात है।

जो दसवीं और बारहवीं कक्षा के मेधावी बच्चों के लिए शुरू की गई थी। हालांकि अभी इस बारे में औपचारिक निर्णय नहीं हुआ है। सूत्रों के मुताबिक अब जो प्रदेश सरकार द्वारा योजना शुरू की जानी है, वह कॉलेज के लिए होगी, जिसके लिए प्रदेश सरकार प्रस्ताव की रूपरेखा तैयार कर रही है। इसमें अभी यह तय किया जाएगा कि अब कॉलेज के कितने छात्रों को लैपटॉप दिए जाएंगे। इस पर आधिकारिक स्तर पर जल्द बैठक आयोजित की जाने वाली है। गौर हो कि पूर्व सरकार की योजना के मुताबिक दसवीं के पांच हजार और बारहवीं के भी पचास हजार बच्चे जो मेरिट में आते थे, उन्हें लैपटॉप दिए जाते थे। लेकिन अब ये इस वर्ष से उन्हें नहीं मिलेंगे।

फिलहाल प्रदेश सरकार ने अभी पूर्व सरकार की शिक्षक सम्मान योजना को भी बंद कर दिया है। इसमें अंगे्रजी, गणित और विज्ञान विषय में बेहतर प्रदर्शन करने वाले शिक्षकों को एक वर्ष का सेवाविस्तार दिया जाना था। अब स्कूली मेधावी बच्चों के लिए लैपटॉप योजना बंद की जा रही है। बहरहाल इस योजना के तहत पूर्व सरकार लगभग तीस से पैंतीस करोड़ का खर्च लैपटॉप खरीद के लिए कर रही थी। अब इस योजना का लाभ कॉलेज के छात्रों को दिया जाएगा।

“प्रदेश सरकार अपने विजन डॉक्यूमेंट के तहत ही कॉलेज छात्रों के लिए लैपटॉप योजना शुरू कर रही है। प्रदेश सरकार अब कॉलेजों के मेधावी छात्रों को ही लैपटॉप देगी। स्कूलों के मेधावी बच्चों के लिए अब लैपटॉप देने की योजना फिलहाल बंद की जा रही है।”                            -डॉ. अरुण शर्मा, शिक्षा सचिव

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams