News Flash
Ram Rahim convicted in murder case

17 को सुनाई जाएगी सजा, इस मामले में तीन अन्य भी गुनहगार,  डेरा प्रमुख की वीडियो कांफ्रेंसिंग से हुई पेशी

हिमाचल दस्तक। पंचकूला : सीबीआई की एक अदालत ने 2002 में पत्रकार राम चंद्र छत्रपति की हुई हत्या के मामले में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह और तीन अन्य को शुक्रवार को दोषी करार दिया। उन्हें 17 जनवरी को सजा सुनाई जाएगी। विशेष सीबीआई न्यायाधीश जगदीप सिंह ने यहां डेरा प्रमुख और तीन अन्य को इस मामले में दोषी ठहराया।

सीबीआई के वकील एचपीएस वर्मा ने बताया कि सभी चार आरोपियों को दोषी ठहराया गया है। इस मामले में 17 जनवरी को सजा सुनाई जाएगी। तीन अन्य आरोपियों में कुलदीप सिंह, निर्मल सिंह और कृष्ण लाल शामिल हैं। गुरमीत (51) रोहतक की सुरनिया जेल से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए अदालत में पेश हुआ। वह अपनी दो अनुयायियों से बलात्कार करने के मामले में फिलहाल 20 साल की कैद की सजा काट रहा है।

गौरतलब है कि वर्ष 2002 में छत्रपति की उनके आवास के बाहर गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। दरअसल उनके अखबार पूरा सच ने एक पत्र प्रकाशित किया था, जिसमें इस बात का जिक्र किया गया था कि सिरसा स्थित डेरा मुख्यालय में गुरमीत किस तरह से महिलाओं का यौन उत्पीडऩ करता था। यह मामला 2003 में दर्ज किया गया था और इसे 2006 में सीबीआई को सौंपा गया था। मामले में गुरमीत को मुख्य षड्यंत्रकर्ता नामजद किया गया था।

सुनवाई से पहले पंचकूला में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट का सुरक्षा घेरा बढ़ा दी गई थी। यौन शोषण केस में राम रहीम को सजा के बाद पिछली बार हुई हिंसा को देखते हुए प्रशासन की तरफ से चाक-चौबंद सुरक्षा इंतजाम किए गए थे। सुनवाई के दौरान मीडिया को अदालत से बाहर रखा गया। डीसीपी कमलदीप गोयल ने कहा कि भारी संख्या में पुलिसबल को तैनात कर दिया गया था।

“एक ताकतवर दुश्मन के खिलाफ कड़ी लड़ाई लडऩे के बाद इंसाफ मिलना बेहद खास है। हम अदालत के ऋणी हैं। मैंने जज साहब से कहा कि आप हमारे लिए भगवान का रूप हैं।” 
-अंशुल छत्रपति, रामचंद्र का बेटा

 

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams