Schools will also be able to check with the pearls

अखंड शिक्षा ज्योति कार्यक्रम में बोले सीएम जयराम ठाकुर, मुख्यमंत्री ने नवाजे कॉरपोरेट दुनिया में विभिन्न शीर्ष पदों पर आसीन व्यक्ति

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला : स्कूलों में मार्गदर्शक बनकर आगे बढऩे के लिए बच्चों को प्रेरित करने के बाद स्कूलों के मोती अपने स्कूल की जांच भी कर पाएंगे। यदि स्कूल में कोई कमी है तो वह उसके बारे में शिक्षा विभाग को रिपोर्ट भी सौंप पाएंगे।

शिमला में अखंड शिक्षा ज्योति कार्यक्रम के तहत प्रदेश मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि राज्य के स्कूलों के पुराने विद्यार्थियों और अब कॉरपोरेट दुनिया में विभिन्न प्रतिष्ठानों में शीर्ष पदों पर आसीन व्यक्ति एक प्रेरक बन सकते हैं। कार्यक्रम में इन व्यक्तियों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का आयोजन शिक्षा विभाग द्वारा किया गया। सीएम ने कहा कि कि प्रदेश सरकार 500 प्रतिभावान विद्यार्थियों को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए एक लाख रुपये प्रति विद्यार्थी भी देने वाली हैैै।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने नई मेधा प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत राज्य के ऐसे 500 प्रतिभावान विद्यार्थियों को आईआईटी, एनईईटी, आईआईआईटी, आईआईएम, जेईई, आईएएस तथा एचएएस इत्यादि विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए एक लाख रुपये प्रति विद्यार्थी प्रदान करने का निर्णय लिया है। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि यह कार्यक्रम मुख्यमंत्री की सोच है। वह चाहते हैं कि प्रदेश के स्कूलों से निकले विद्यार्थियों को सम्मानित किया जाए, जिन्होंने कॉरपोरेट दुनिया में विशेष स्थान हासिल किया है।

हिमाचल के 30 टॉपर्स को फ्री कोचिंग देंगे डॉ. ओपी

शिक्षा सोसायटी पंचकूला के चेयरमैन डॉ. ओपी सिंह ने सरकार को बताया कि प्रदेश के 30 टॉपर्स को वे फ्री कोचिंग देंगे। उन्होंने कहा कि 30 छात्रों की कोचिंग पर 90 लाख रुपये खर्चा आता है, लेकिन उनकी सोसायटी फ्री कोचिंग करवाने को तैयार है। डॉ. ओपी सिंह जिला मंडी के सरकारघाट से संबंध रखते हैं।

कॉरपोरेट जगत युवाओंं को दे अवसर

जयराम ठाकुर ने कहा कि उद्यमियों को युवाओं को कारपोरेट जगत में नौकरियों के अवसरों की जानकारी प्रदान करनी चाहिए। प्रदेश में बढ़ती बेरोजगारी की समस्या से निपटने के लिए राज्य के चयनित 10 कॉलेजों में स्थापित उत्कृष्टता केंद्र एवं इनक्यूबेशन केंद्रों के माध्यम से इन युवाओं के करियर प्रोफाइलिंग में सहायता की जाएगी।

प्रदेश के 3391 स्कूलों में प्री नर्सरी

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकारी स्कूलों का विभिन्न क्षेत्रों में विशिष्ट स्थान प्राप्त करने वाले उत्कृष्ट विद्यार्थी तैयार कर प्रदेश व समाज के विकास में महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने कहा कि अब राज्य सरकार ने अभिभावकों को अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में दाखिल करने के लिए प्रेरित करने को प्रथम चरण में 3391 सरकारी स्कूलों में नर्सरी कक्षाएं आरंभ करने का निर्णय लिया है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams