News Flash
Sorry for not being successful against the drug addict: the governor

बोले, नशामुक्ति पर जनांदोलन खड़ा करना चाहता था, प्राकृतिक कृषि की प्रगति देखने आता रहूंगा हिमाचल, राजभवन में आचार्य देवव्रत ने की आखिरी प्रेसवार्ता

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला : राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने कहा कि प्राकृतिक कृषि पर बेशक हिमाचल में अच्छी शुरुआत हुई हो, लेकिन नशे के खिलाफ वह सफल नहीं हो पाए, इसका खेद भी है। गुजरात जाने से पहले राजभवन में हुई आखिरी प्रेस वार्ता में गवर्नर ने कहा कि नशामुक्ति को जन आंदोलन बनाने की जरूरत है।

हिमाचल जैसी देवभूमि में इसका जाल बढ़ रहा है। ये घातक है। वह चाहते थे कि इसके खिलाफ लोगों को खड़ा किया जाए, लेकिन अपेक्षित सफलता नहीं मिली। उम्मीद है कि राज्य सरकार इस दिशा में और प्रतिबधता से काम करेगी। उन्होंने कहा कि हिमाचल में बिताए चार साल उनके जीवन की अमूल्य धरोहर हैं। जो यहां के लोगों से प्रेम और सहयोग मिला, वह अतुलनीय है। आचार्य देवव्रत ने कहा कि वह प्राकृतिक कृषि गुजरात में भी शुरू करेंगे और हिमाचल में हुए काम की प्रगति देखने भी आते रहेंगे। उन्होंने कहा कि अब तक 10 हजार लोग प्राकृतिक कृषि अभियान से जुड़ चुके हैं और इस साल के अंत तक 50 हजार लोगों को जोडऩे का लक्ष्य है।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने जिस पॉजीटिव अप्रोच से इस मिशन को आगे बढ़ाया है, उसके लिए वह उनके शुक्रगुजार हैं। जो मंत्र उन्होंने हिमाचल में आकर सामाजिक चेतना के लिए शुरू किए थे, वे ही अब गुजरात में भी उनका लक्ष्य होंगे। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि राजभवन में उनकी पाली हुई गाय को अब वह कुरूक्षेत्र गुरूकुल भेज रहे हैं।

गुजरात राजभवन में भी इसी तरह यज्ञशाला बनेगी और देसी गाय भी रखी जाएगी। इससे पूर्व पिछली शाम को राज्यपाल को फेयरवेल देने के लिए पीटरहाफ में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, उनके मंत्रिमंडल के सहयोगी, विधानसभा अध्यक्ष डॉ. बिंदल आदि मौजूद थे। आचार्य देवव्रत की जगह अब कलराज मिश्र हिमाचल के गवर्नर होंगे।

22 जुलाई को गुजरात में संभालेंगे कार्यभार

गवर्नर ने कहा कि महात्मा गांधी, सरदार पटेल और दयानंद सरस्वती की धरती गुजरात में सेवा करने का मौका मिलना उनके लिए सौभाग्य की बात है और इसके लिए वह राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के आभारी हैं। वह 22 जुलाई सोमवार को वहां राजभवन में कार्यभार ग्रहण करेंगे। वीरवार को आचार्य देवव्रत शिमला से रवाना होंगे।

This is Rising!

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams