News Flash
State High Court asked, why not dissolve the city council

सभी नगर परिषद सदस्यों को अवमानना नोटिस जारी, अतिक्रमण से नाराज हाईकोर्ट ने डीसी को भी लपेटा 

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला : हाईकोर्ट के आदेशों के बावजूद नगर परिषद नाहन की परिधि में अवैध निर्माण और अतिक्रमण को न हटाने पर प्रदेश हाईकोर्ट ने नगर परिषद के सभी सदस्यों के खिलाफ अवमानना का नोटिस जारी किया है।

न्यायाधीश तरलोक सिंह चौहान ने सभी सदस्यों को कारण बताओ नोटिस जारी कर पूछा है कि अदालती आदेशों की अवहेलना किया जाने पर उनके खिलाफ क्यों न अवमानना की कार्रवाई की जाए? साथ ही नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी को भी कारण बताओ नोटिस जारी कर पूछा है कि क्यों न इस परिषद् को नगर परिषद अधिनियम के अनुसार भंग किया जाए? न्यायाधीश तरलोक सिंह चौहान ने अनिल अग्रवाल द्वारा दायर याचिका की सुनवाई के पश्चात् डीसी सिरमौर और नगर परिषद नाहन को भी अवमानना नोटिस जारी किया है।

मामले के अनुसार नगर परिषद नाहन ने शपथपत्र के माध्यम से अदालत को बताया था कि नगर परिषद की आम सभा का आयोजन 10 जनवरी को किया गया था। इसमें अतिक्रमण व अवैध निर्माण करने वालों को 15 दिनों का कारण बताओ नोटिस का प्रस्ताव पारित किया गया। डिमार्केशन के लिए परिषद स्टॉफ के 5 सदस्यों सहित वार्ड सदस्य की तकनीकी टीम के गठन का निर्णय भी लिया गया था। बैठक में पुराने मामलों को 6 माह के भीतर निपटाने का प्रस्ताव भी पारित किया था।

इसके पश्चात 28 मार्च को नगर परिषद के सभी सदस्यों की बैठक बुलाई गई, जिसमें बताया गया कि कुल 280 अवैध अथवा अतिक्रमण के मामले पाए गए हैं जिन्हें 30 दिनों में बिजली काटने के नोटिस जारी किए हैं। 27 लोगों की सूची एसडीएम नाहन को भेजी गई है जिन्होंने सरकारी भूमि पर अतिक्रमण किया है। 88 निर्माणों की सूची भी एसडीएम को दी गई है जिनकी डिमार्केशन करने की बात कही गई है। नगर परिषद नाहन ने 244 लोगों की सूची भी हाईकोर्ट के समक्ष रखी जिनकी बिजली काटने के आदेश जारी किए जा रहे हैं।

अब 5 जुलाई को केस सुनेगा हाईकोर्ट:

इस मामले में जिलाधीश सिरमौर को आदेश थे कि वह उनके समक्ष नगर परिषद नाहन की ओर से दायर आवेदन का 30 अप्रैल तक निपटारा कर दें। लेकिन नगर परिषद्, डीसी और एसडीएम अदालत के आदेशों की अनुपालना करने में नाकाम रहे जिसके लिए हाई कोर्ट ने उन्हें अवमानना नोटिस जारी किया है। मामले की सुनवाई आगामी 5 जुलाई को निर्धारित की गई है।

 

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams