श्रीलंका में बोले पीएम , निपटने को साझी कार्रवाई की जरूरत, नरेंद्र मोदी और मैत्रीपाला सिरिसेना ने जताई सहमति , परस्पर हित के द्विपक्षीय मुद्दों पर दोनों नेताओं ने की चर्चा

कोलंबो : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना के साथ रविवार को दस दिनों के अंदर दूसरी बार मुलाकात की और दोनों नेता इस बात पर सहमत हुए कि आतंकवाद संयुक्त खतरा है जिस पर संयुक्त कार्रवाई की जरूरत है। श्रीलंका में अप्रैल में ईस्टर पर हुए आतंकवादी हमले के बाद मोदी देश के दौरे पर आए पहले विदेशी नेता हैं।

उनका दौरा हमले के बाद श्रीलंका के साथ भारत की एकजुटता को दर्शाता है। राष्ट्रपति सिरिसेना के साथ वार्ता के बाद मोदी ने ट्वीट किया, राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना के साथ मुलाकात हुई जो दस दिनों के अंदर दूसरी मुलाकात है। राष्ट्रपति सिरिसेना और मैं इस बात पर सहमत थे कि आतंकवाद संयुक्त खतरा है जिस पर संयुक्त कार्रवाई की जरूरत है। श्रीलंका के साझा, सुरक्षित और समृद्ध भविष्य के लिए भारत की प्रतिबद्धता को दोहराया। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि दोनों नेताओं ने परस्पर हित के द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा की। राष्ट्रपति सिरिसेना ने प्रधानमंत्री मोदी के स्वागत में भोज का आयोजन किया।

मोदी को अपने विशेष मित्र सिरिसेना से बुद्ध की समाधि वाली कलाकृति बतौर विशेष उपहार मिली। इससे पहले राष्ट्रपति सचिवालय जाने के रास्ते में प्रधानमंत्री मोदी का काफिला कोलंबो में कैथोलिक चर्च पहुंचा। मोदी ने चर्च पर हुए घातक हमले के शिकार लोगों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा, मुझे विश्वास है कि श्रीलंका फिर उठ खड़ा होगा। कायराना आतंकी कृत्य श्रीलंका के हौसले को परास्त नहीं कर सकते। श्रीलंका के लोगों के साथ भारत एकजुटता से खड़ा है।

ईस्टर आतंकी हमलों में मारे गए लोगों कोदी श्रद्धांजलि

कोलंबो। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को कोलंबो पहुंचने के तुरंत बाद एक चर्च पहुंचे और द्वीप देश में ईस्टर के दिन आतंकी हमलों में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित की। यह चर्च आत्मघाती हमलों की चपेट में आए स्थलों में से एक है। मोदी ने ट्वीट किया, ईस्टर के दिन हमलों की चपेट में आए स्थलों में से एक सेंट एंथनीज श्राइन पर अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करने के साथ श्रीलंका यात्रा की शुरुआत की।

राष्ट्रपति भवन में लगाया अशोक का पौधा

कोलंबो। पीएम नरेंद्र मोदी ने रविवार को श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना के आवास राष्ट्रपति भवन परिसर में सदाबहार अशोक का पौधा लगाया। बतौर प्रधानमंत्री दूसरी बार शपथ लेने के बाद पहली विदेश यात्रा के दूसरे चरण में रविवार को श्रीलंका पहुंचे मोदी पड़ोसी प्रथम की अपनी नीति पर चलते नजर आ रहे हैं। सिरिसेना ने राष्ट्रपति सचिवालय में मोदी का स्वागत किया। प्रधानमंत्री ने यहीं पर अशोक का पौधा लगाया।

लोकतंत्र भारत के संस्कारों में बसा है : मोदी

कोलंबो। श्रीलंका के एक दिन के दौरे पर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कोलंबो में भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित किया। इस दौरान मोदी ने दुनिया में भारत की छवि बदलने का श्रेय दुनिया के अलग-अलग कोने में रहने वाले भारतीयों को दिया। लोकसभा चुनाव का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि लोकतंत्र भारत के संस्कारों में बसा है।

 

Published by surinder thakur

IT Head Himachal Dastak Media P. Ltd. Bypass Road kangra Kachiari H.P.

Leave a comment

कृपया अपना विचार प्रकट करें