News Flash

पूर्व एमडी के खिलाफ दर्ज होगी एफआईआर, सितारा होटल की लीज डीड और टेंडर भी होगा रद  , आम सभा में सदस्यों की मांग पर प्रबंधन में पारित किया प्रस्ताव

मोहन कपूर। केलांग : एलपीएस (लाहौल पटेटो एसोसिएशन) की आमसभा में दो बार जमकर लात-घूंसे चले। मामला गंभीर होता देख जिला पुलिस प्रमुख राजेश धर्माणी को खुद आमसभा की बैठक में आना पड़ा।

एलपीएस के सदस्य लंबित चार मुद्दों को लेकर बोर्ड ऑफ डायरेक्टर पर कार्रवाई के लिए दबाब डालते रहे। आखिरकार एलपीएस प्रबंधन को सदस्यों के गुस्से के आगे घुटने टेकने पड़े।  सभा में सर्वसमति से संस्था के पूर्व एमडी के कथित अनियमितताओं को लेकर पुलिस में एफआईआर दर्ज करने का प्रस्ताव पारित किया गया, जबकि एलपीएस की निदेशक मंडल को भंग करने, संस्था की मनाली स्थित तीन सितारा होटल की लीज डीड रद करने के साथ इसके टेंडर प्रक्रिया की जांच करने का प्रस्ताव पारित किया गया। वही, संस्था में किसी शैक्षणिक योग्यता वाले शख्स को एमडी का कार्यभार सौंपने पर भी सहमति बनी।

कारोबार के लिहाज से किसी जमाने में अमूल के बाद देश की दूसरी सबसे बड़ी को-ऑपरेटिव सोसायटी के रुतबा रखने वाली एलपीएस आज कर्ज के बोझ तले दब गई है। संस्था पर सदस्यों की और से लगातार भष्टाचार के आरोप लगते आए हैं। किसानों का आरोप है कि आजतक हर बार सभा की वार्षिक बैठक किसानों की बात को प्रबंधन नजरअंदाज करता आ रहा है। हंगामे को देख कर कैबिनेट मंत्री अपना भाषण देकर सभा से निकल पड़े। किसानों की तरफ से जिप सदस्य एवं जनजातीय युवा मंच के जिला अध्यक्ष सुदर्शन जस्पा ने लंबित चार मांगों को लेकर एलपीएस प्रबंधन को जमकर खिंचाई की।

जस्पा ने कहा कि जब पूर्व एमडी के खिलाफ विभागीय जांच में कथित घोटाले की हो चुकी है। इसके बाबजूद प्रबंधन अधिकारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज क्यों नही करवा रही है।  होटल चंद्रमुखी को बिना टेंडर प्रक्रिया के ठेकरदार को क्यों कैदियों के भाव लीज पर दिया गया। एलपीएस के केलांग निवासी 88 वर्षीय किसान सोनम उपासक ने कहा कि किसानों की मेहनत की गाड़ी कमाई के दम पर संस्था की सांस चल रही है। किसान राकेश, सुरेंद्र किरु, मोहन, सुरेंद्र ने कहा कि एलपीएस भ्रष्टाचार का अड्डा बन गया है।

किसानों को विश्वास में लिए बगैर प्रबंधन अपने निजी हित मे निर्णय ले रही है। हालांकि एलपीएस प्रबंधन पहले सदस्यों की मांगों को मनाने के लिए तैयार नहीं हुआ। लेकिन किसानों के गुस्से के आगे प्रबंधन को आखिरकार घुटने टेकने पड़े। एलपीएस के कार्यकारी एमडी राजेंद्र कुमार ने सदस्यों की तमाम मांगों को मानते हुए प्रस्ताव पारित करने की पुष्टि की है।

 

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams