राजस्व सबंधी दस्तावेज और अन्य कामकाज के लिए झेलनी पड़ रही परेशानी

रिक्त पद भरने की बार बार मांग के बावजूद नही हो रही कोई सुनवाई

ललित ठाकुर । पधर :  पधर उपमंडल की चौहारघाटी की सब तहसील टिक्कन में नायब तहसीलदार का पद गत चार माह से खाली चल रहा है । पूर्व सरकार ने चौहारघाटी के टिक्कन में सब तहसील खोलकर लोगो को सुविधा तो दे दी लेकिन जैसे ही हिमाचल प्रदेश में सरकार पलटी तो वर्तमान सरकार ने कई अधिकारी भी पलट दिए ।

नायब तहसीलदार न होने से चौहारघाटी के ग्रामीणों को राजस्व सबंधी दस्तावेज बनाने के लिए खासी परेशानी झेलनी पड़ रही है।
हालांकि राजस्व कार्यों को निपटाने के लिए सब तहसील कटौला के नायब तहसीलदार को यहां का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया है। लेकिन दो दो तहसील के लिए समय वह भी नही निकाल पा रहे हैं। चार माह से कोई तहसीलदार की नियुक्ति न होने से घाटी के ग्रामीणों में प्रदेश सरकार के प्रति खासा आक्रोश है।
बरोट की प्रधान रंजना ठाकुर, धमच्यान पंचायत के उप प्रधान नरेश ठाकुर, पूर्व उप प्रधान ओम प्रकाश ठाकुर, तरसवान के उपप्रधान जय सिंह, लपास के उप प्रधान रमेश चंद, लटराण  के उप प्रधान बुद्धि सिंह, गंगाराम, शोभू राम, भीखम, शेर सिंह, लाभ सिंह, रूप सिंह, श्याम लाल, धर्म सिंह, हीरा लाल, मनी राम, रामदेई, मथरा देवी, माली देवी, पार्वती, काहन चंद, अनिल कुमार, रमेश चंद, संजय कुमार, राम सिंह, रामु और रोशन लाल सहित अन्यों का कहना है कि यहां पर तैनात तहसीलदार का मार्च माह में तबादला हो गया है। उसके बाद कोई भी नियुक्ति यहां नही हो पाई है।
जिस कारण राजस्व सबंधी दस्तावेज बनाने के लिए ग्रामीणों और युवाओं को परेशानी झेलनी पड़ रही है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा सब तहसील कटौला के नायब तहसीलदार को यहां का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया है। लेकिन वह भी कभी कभार पंचायतों में आयोजित किए जाने वाले राजस्व शिविरों में आते हैं। स्कूलों में नया शैक्षणिक सत्र शुरू होते ही जाति और आय प्रमाण पत्र विद्यार्थियों से मांगे जा रहे हैं। लेकिन अधिकारी के न होने से अविभावकों को दर दर भटकना पड़ रहा है। वहीं पढ़े लिखे बेरोजगार युवा भी दस्तावेज तैयार करने के लिए खासे परेशान हैं।
चौहारघाटी के जनप्रतिनिधियों ने पंचायतों से प्रस्ताव पारित कर यहां शीघ्र नायब तहसीलदार की नियुक्ति को लेकर प्रदेश सरकार को भेजे हैं। बावजूद इसके खाली पद को भरने के लिए कोई सुनवाई नही हो रही है। जिससे स्थानीय जनप्रतिनिधियों सहित ग्रामीणों का गुस्सा सातवें आसमान पर है। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर और स्थानीय विधायक जवाहर ठाकुर से मांग की है कि नायब तहसीलदार के खाली चल रहे पद को तत्काल प्रभाव से भरा जाए। अन्यथा चौहारघाटी के ग्रामीणों को मजबूरन आंदोलन की राह अख्तियार करनी पड़ेगी।

क्या कहते है स्थानीय विधायक जवाहर ठाकुर 

 प्रदेश सरकार द्वारा आज ही टिक्कन में नायब तहसीलदार के ऑर्डर किए गए हैं। एक दो दिन में जॉइनिंग कर लेंगे।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams