UAE persuades to invest in food processing and tourism

लग्जरी रिजॉर्ट के लिए 1000 करोड़ के एमओयू पर हस्ताक्षर, धर्मशाला में होने वाली ग्लोबल इन्वेस्टर मीट में आएगा यूएई

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला : मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने दुबई में संयुक्त अरब अमीरात यानी यूएई के महासचिव जमाल अल जरवान के साथ बैठक की तथा राज्य में खाद्य प्रसंस्करण लॉजिस्टिक्स, पर्यटन और बिजली जैसे विभिन्न क्षेत्रों में निवेश के लिए विद्यमान संभावनाओं पर अवगत करवाया।

जमाल ने कहा कि यूएई भारत में खाद्य प्रसंस्करण और बुनियादी ढांचे में निवेश का इच्छुक है। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त की कि वर्तमान में भारत और यूएई के मध्य 60 बिलियन डॉलर का व्यापार हो रहा है और यूएई सरकार इसे 100 बिलियन डॉलर तक पहुंचाने का प्रयास कर रही है।

यूएई की सरकार अधोसंरचना में निवेश कर रही है और यूएई के पास राजकीय कोष में अतिरिक्त धन उपलब्ध होने के कारण निवेश के लिए सभी संभावित अवसर खोज रहा है। जमाल ने अब्बू धाबी और दुबई में विभिन्न क्षेत्रों के किए गए निवेशों के बारे में भी अवगत किया। उन्होंने जानकारी दीकि यूएई हिमाचल के धर्मशाला में आयोजित होने वाली ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट में भी भाग लेगा।

मुख्यमंत्री ने मुख्य कार्यकारी अधिकारी, जाफजा और डीपी वल्र्ड मोहम्मद अल मुल्लेम से भी मुलाकात की। मुल्लेम ने कहा कि उनका समूह हिमाचल में निवेश करने के लिए विशेष रूप से लॉजिस्टिक्स और परिवहन के अलावा बागवानी एवं कृषि उत्पादों के आयात निर्यात में उत्सुक है। मुख्यमंत्री की उपस्थिति में राज्य सरकार और विभिन्न उद्यमियों के बीच कई समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए गए।

उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह, अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. श्रीकांत बाल्दी, अतिरिक्त मुख्य सचिव उद्योग मनोज कुमार, अतिरिक्त मुख्य सचिव पर्यटन रामसुभग सिंह, निदेशक उद्योग हंसराज शर्मा आदि इस अवसर पर उपस्थित थे।

इन क्षेत्रों में निवेश को साइन हुए एमओयू

1. नैचुरोपैथी रिजॉर्ट और हाउसिंग: मैसर्स एमकेएस ग्रुप के साथ नैचुरोपैथी रिजॉर्ट के लिए 100 करोड़ रुपये और कम लागत वाले हाउसिंग के लिए 150 करोड़ रुपये के निवेश के समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। राज्य में निवेश के अवसरों को उजागर करने व राज्य में संयुक्त अरब अमीरात के निवेश को सुविधाजनक बनाने को राज्य सरकार व यूएई इंडिया बिजनेस कॉउंसिल के बीच एक अन्य समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

2. कृषि और खाद्य क्षेत्र : कृषि और खाद्य क्षेत्र में मौजूदा क्षमताओं को मजबूत और विस्तार करने को राज्य सरकार व कार्यकारी अध्यक्ष और सीईओ, आईएमई, टीआईएफएफ व कार्यकारी अध्यक्ष, मुख्य कार्यकारी अध्यक्ष डीएमसीसी अहमद बिन सुलेयम के बीच एक और समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

3. लग्जरी रिजॉर्ट : राज्य के प्रतिनिधिमंडल ने सीईओ नीलगिरी ट्रेडिंग चंद्रशेखर भाटिया के साथ भी मुलाकात की। राज्य सरकार और नोमिसमा बैंकिंग एवं फाइनांशियल एडवाइसरी, नीलगिरी ट्रेडिंग के बीच 1000 करोड़ लग्जरी रिजॉर्ट के विकास को समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर हुए। रिजॉर्ट मुख्यत: भव्य शादी समारोहों के आयोजन की दृष्टि से निर्मित होगा।

 

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams