Worker was burnt alive for insurance claim

आरोपी के पास काम करता था जलाया गया युवक ,  वारदात को अंजाम देने वाले चाचा और भतीजा गिरफ्तार, 19 नवंबर को दिया गया था वारदात को अंजाम,  पत्रकार वार्ता में एएसपी वीरेंद्र ठाकुर ने दी जानकारी

हिमाचल दस्तक। नाहन : सिरमौर पुलिस ने इंश्योरेंस के लालच में एक मजदूर की हत्या के आरोप में एक कांट्रेक्टर और उसके भतीजे को गिरफ्तार किया है। मुख्य आरोपी आकाश को यूपी-बिहार की सीमा पर जलालपुर में ट्रेन से मंगलवार रात गिरफ्तार किया।

उसके भतीजे रवि निवासी बलटाना जीरकपुर को एक दिन पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। रवि को कोर्ट में पेश कर पांच दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा गया है। मुख्य आरोपी आकाश को भी कोर्ट में पेश कर रिमांड मांगा जाएगा। बुधवार को एसपी ऑफिस नाहन में आयोजित पत्रकार वार्ता में एएसपी विरेंद्र ठाकुर ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि 19 नवंबर की रात नाहन के जुड्डा के जोहड़ में नेशनल हाइवे पर एक कार में एक व्यक्ति के जिंदा जलने का मामला सामने आया था।

प्रथम जांच में यह पाया गया था कि इसमें आकाश निवासी जिरकपुर जो एक कांट्रेक्टर था कि जिंदा जलकर मौत हो गई।मृतक के परिजनों की शिनाख्त पर आगामी कार्रवाई की गई। पुलिस ने बाकायदा एक टीम का गठन कर इस मामले में छानबीन शुरू की तो कई सनसनीखेज खुलासे हुए। एएसपी ने बताया कि इस पूरी साजिश में आकाश के परिवार वालों का भी सहयोग रहा। आकाश के घर में मरणोंपरांत सारी रस्मों को निभाया गया। मकसद सिर्फ आकाश का डेथ सर्टिफिकेट हासिल करना था, ताकि इंश्योरेंस का क्लेम कर सकें। उन्होंने बताया कि पुलिस टीम ने सबसे पहले आकाश और उससे बात करने वाले मोबाइल की लोकशन को ट्रेस किया।

इसके अलावा उन्हें पुलिस टीम को राजू के मिसिंग होने का पता भी चला। इसके बाद सबसे पहले पुलिस ने आकाश के भतीजे राजू को गिरफ्तार किया। उससे गहनता से पूछताछ के बाद सारा सच सामने आया। पुलिस ने अब इस मामले में धारा 302, 201 और 34 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। हत्या के इस मामले को ट्रेस करने में एसएचओ सदर विजय कुमार, एएसएचओ योगेंद्र, हवलदार जगीर, अमरेंद्र, तोषी सहित अन्य कर्मियों के संयुक्त प्रयास से ही हत्या के असली कातिलों तक पहुंच पाए।

50 लाख की थी इंश्योरेंस

एएसपी विरेंद्र ठाकुर ने बताया कि पूछताछ के दौरान पता चला है कि हत्यारोपी आकाश की करीब 50 लाख की इंश्योरेंस पॉलिसियां थीं। इसके लिए उसने इस वारदात को अंजाम दिया।

पहले ही बनाया था प्लान

मुख्य आरोपी आकाश ने इस हत्या को एक योजनाबद्ध तरीके से अंजाम दिया। आकाश ने इंश्योरेंस के पैसे हड़पने के लिए अपनी मौत का नाटक रचा। इसके लिए उसने उसके पास मिस्त्री का काम करने वाले राजू (40) निवासी धौलपुर राजस्थान को मोहरा बनाया। 19 नवंबर को आकाश और रवि राजू को अपने साथ गाड़ी में बैठाकर लाए। उसे शराब पिलाई, मारपीट की और ड्राइविंग सीट पर बिठाकर गाड़ी को आग लगा दी। इस वारदात का वीडियो बनाकर व्हाट्सऐप पर डाल दिया। 108 व पुलिस को भी इस हादसे की जानकारी दी गई।

 

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams